कानपुर में दर्दनाक हादसा, मिठाई के कारखाने में लीकेज सिलिंडर से लगी आग में दो कर्मियों की जलकर मौत

कलक्टरगंज थाना क्षेत्र के काहूकोठी में स्वीट हाउस के कारखाने में लीकेज सिलिंडर से आग लग गई। सीढ़ियों के रास्ते में मिठाई के डिब्बे, चीनी और घी आदि के डिब्बे रखे होने से आग भड़क गई। लपटों ने तीनों मंजिल को चपेट में ले लिया, जिसमें दो कर्मचारियों की जलकर मौत हो गई। दमकल की गाड़ियों ने करीब छह घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

स्वरूप नगर निवासी बनवारी लाल गुप्ता की काहूकोठी में राजकिशोर स्वीट्स के नाम से दुकान है। दुकान के पिछले हिस्से में कारखाना चलता है, सहालग में बालूशाही आदि पकवान बनाने का काम भी करते हैं। सहालग में 24 घण्टे कारखाने का संचालन हो रहा था। शुक्रवार की रात लीकेज सिलिंडर से आग लग गई और तेज लपटों ने पूरे कारखाने को चपेट में ले लिया। आग के बीच कर्मचारियों में भगदड़ मच गई और बचाव के लिए कर्मचारी ऊपरी मंजिल की ओर भागे।

कुछ ही देर में आग की लपटों ने स्वीट हाउस के आगे के हिस्से को भी चपेट में ले लिया और देखते देखते आग विकराल ही गई। सीढ़ियों के रास्ते में मिठाई के डिब्बे, चीनी और वनस्पति घी के डिब्बे रखे होने से आग ऊपरी मंजिल को बढ़ती गई। इससे कर्मचारियों में फिर भगदड़ मच गई और पड़ोसी के मकान की छत से करीब 15 कर्मचारियों को सुरक्षित निकाला गया।

इससे पहले दो कर्मचारी सोनू व अन्य आग में फंस गए और उनकी जलकर मौत हो गई। मरने वाले कर्मी में एक मूकबधिर था। कर्मचारियों की सूचना पर लाटूश रोड, कर्नलगंज, फजलगंज समेत अन्य फायर स्टेशन से दमकल की गाड़ियां पहुंची और आग बुझाने का काम शुरू किया। करीब छह घंटे की मशक्कत के बाद आग पर क़ाबू पाया जा सका।

हरदोई का है कर्मचारियों का स्टाफ : स्थानीय लोगों के मुताबिक दुकान में काम करने वाले कर्मचारियों का स्टाफ हरदोई का है। सभी कर्मचारी हरदोई में आसपास गांव के ही रहने वाले है। आग बुझने के बाद कलक्टरगंज पुलिस ने दोनों कर्मचारियों के शव निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। साथियों की मदद से मृतकों के स्वजन को सूचना दी गई है।