सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस ने पश्चिमी समुद्र तट पर दिखाया दमखम, INS विशाखापत्तनम ने किया सफल परीक्षण

सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का आज एक बार फिर सफल परीक्षण किया गया है। भारतीय नौसेना के युद्धपोत INS विशाखापत्तनम ने पश्चिमी समुद्र तट से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का परीक्षण किया है। गौरतलब है कि 21 फरवरी को राष्ट्रपति की फ्लीट रिव्यू में हिस्सा लेने के लिए युद्धपोत को विशाखापत्तनम लाया गया है।

बता दें कि 21 फरवरी को विशाखापत्तनम में नौसेना द्वारा आयोजित की जाने वाली राष्ट्रपति की फ्लीट रिव्यू में भारत की स्वतंत्रता के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा और इसके बाद द्विवार्षिक बहुपक्षीय नौसैन्य अभ्यास ‘मिलन’ होगा।

गौरतलब है कि भारत द्वारा आयोजित मिलन कार्यक्रम की शुरुआत 1995 में अंडमान के निकोबार द्वीप समूह में चार तटवर्ती नौसेनाओं की भागीदारी के साथ की गई थी। मिलन 2022 इस आयोजन का 11वां संस्करण है और इसमें 45 से अधिक देशों को भाग लेने के लिए निमंत्रण दिया गया है और बड़ी संख्या में मित्र देशों के प्रतिनिधिमंडलों और युद्धपोतों के भाग लेने की उम्मीद जताइ जा रही है।

जानकारी के मुताबिक इस मिसाइल में 400 किमी. तक लक्ष्य भेद करने की क्षमता है। इस मिसाइल को भारत एवं रूस के संयुक्त प्रयास से विकसित किया गया है। इस मिसाइल की लम्बाई की बात करें तो यह 8.4 मीटर लंबी है जबकि इसकी मोटाई 0.6 मीटर है। यह मिसाइल 2.5 टन तक परमाणु अणु एवं परमाणुक युद्धास्त्र ले जाने में भी सक्षम है।