AAP के बाद अब AIMIM भी यूपी पॉलिटिक्स में आजमाएगा भाग्य, ओवैसी ने की राजभर से मुलाकात

उत्तर प्रदेश में वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दल सक्रिय होने लगे हैं। आम आदमी पार्टी के बाद अब ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भी उत्तर प्रदेश में चुनावी मैदान में उतरने का ऐलान कर दिया है। इसी सिलसिले में बुधवार को ओवैसी ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर से लखनऊ में मुलाकात की है। इस दौरान असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि ओम प्रकाश राजभर और वह आपके सामने बैठे हैं। हम एक साथ उत्तर प्रदेश में उनके नेतृत्व में काम करेंगे।

हाल ही में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन से उत्साहित एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी अब उत्तर प्रदेश में अपने पैर जमाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने बुधवार को ओम प्रकाश राजभर से लखनऊ में एक होटल में मुलाकात की। बताया जा रहा है कि यूपी में ओवैसी की जनभागीदारी मोर्चा के साथ गठबंधन पर बातचीत चल रही है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार की नीतियों का विरोध करने के लिए ओम प्रकाश राजभर ने जनभागीदारी संकल्प मोर्चा का गठन किया है। जनभागीदारी मोर्चे में बाबूराम कुशवाहा की जन अधिकार पार्टी, राष्ट्रीय उदय पार्टी, राष्ट्रीय उपेक्षित समाज पार्टी और जनता क्रांति पार्टी समेत आठ क्षेत्रीय पार्टियां शामिल हैं। इसके अलावा ओवैसी की प्रगतिशील समाज पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव और बहुजन समाज पार्टी के महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा से मुलाकात भी प्रस्तावित है।

एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि शिवपाल सिंह यादव उत्तर प्रदेश की राजनीति में बहुत बड़ा चेहरा हैं। उनसे भी मुलाकात होनी है। उन्होंने कहा कि बिहार में जो कामयाबी मिली है, उसमें हम सभी का योगदान रहा है। वहां के परिणामों से बहुत बड़ा हौसला मिला है, जिसे आगे भी जारी रखेंगे।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि जनभागीदारी संकल्प मोर्चा को और मजबूत करने के लिए आज असदुद्दीन ओवैसी से मुलाकात हुई है। उन्होंने कहा है कि वह मोर्चे में शामिल होंगे और मिलकर चुनाव लड़ेंगे। मोर्चा को मजबूत करने के लिए राजनीतिक दलों को जोड़ा जा रहा है। उत्तर प्रदेश में शिक्षा और स्वास्थ्य की सुविधाएं मुफ्त होनी चाहिए और इसके लिए हम कटिबद्ध हैं।