KGMU 16th Convocation 2020: मेधावियों पर बरसे मेडल, राष्ट्रपति ने कहा- डॉक्टरों की नई व पुरानी पीढ़ी देश में इलाज का विश्वस्तरीय ढांचा तैयार करे

KGMU 16th Convocation 2020: कोविड-प्रोटोकॉल के बीच सोमवार को किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) का 16वां दीक्षा समारोह मनाया गया। इस दौरान अंडरग्रेजुएट (यूजी) और पोस्टग्रेजुएट (पीजी), सुपर स्पेशयलिटी के टॉपर पर मेडल की बारिश हुई।

कार्यक्रम को बतौर मुख्य अतिथि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने छात्रों-शिक्षकों को वर्चुअल संबोधित करते हुए कहा कि केजीएमयू ने गंभीर चुनौतियों के बीच अपना गौरवशाली इतिहास गढ़ा है। राष्ट्रपति भवन में भी स्वास्थ्य सेवा केजीएमयू से पढ़े डॉक्टर के हाथ में है। डॉक्टरों की नई-पुरानी पीढ़ी देश में इलाज का विश्वस्तरीय ढांचा तैयार करें।  कोरोना योद्धाओं का देश ऋणी रहेगा। केंद्र व राज्य सरकार बीमारी पर नियंत्रण करने में सफल रहीं। उत्‍तर प्रदेश की कोरोना जांच, चिकित्‍सा व रोकथाम के लिए केजीएमयू ने अहम योगदान दिया है।

वहीं, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि यूनिवर्सिटीज में जातिवाद खत्म हो, आदर्श वातारण बनाएं। पढ़े-लिखे लोग जातिवाद से बाहर नहीं आएंगे, तो सामान्य लोगों कैसे होंगे। डॉक्टर यह न समझें फ्री में पढ़े हैं, एक स्टूडेंट पर सरकार कम से कम 50 लाख खर्च करती है। यह पैसा नागरिकों के टैक्स से आते हैं। ऐसे में समाज के प्रति खुद की जिम्मेदारी समझें। विवाह में दहेज मांगने पर युवतियां खुद शादी से इनकार करें।हिम्मत बनाओ, तभी समाज मे बदलाव आएगा।

वहीं, विशिष्ट अतिथि चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना ने मेधावियों को मेडल पहनाए। एमबीबीएस में नितिन भारती ने टॉप किया। बीडीएस में अंजलि मल्ल ने सर्वोच्च अंक हासिल किए।

कन्वेंशन सेंटर में सोमवार सुबह 10 बजे मेधावियों का पहुंचना शुरू हुआ। प्रवेश से पहले उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की गई। साढ़े दस बजे रजिस्ट्रार, सभी डीन, विभागाध्यक्ष लाइन से तय ड्रेस में हॉल में प्रवेश किए। इस दौरान बैंड भी बजाया गया। करीब 11:15 बजे कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहीं राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कार्यक्रम की घोषणा की। साथ ही राज्यपाल व विशिष्ट अतिथि चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना ने यूजी, पीजी व सुपरस्पेशयलिटी कोर्स के टॉपर्स को मेडल पहनाया जाएगा।

एमबीबीएस में ऑल ओवर टॉपर नितिन भारती रहे। उन्होंने एमबीबीएस के सभी प्रोफेशनल एक्जाम में सर्वोच्च अंक हासिल किए। उन्हें संस्थान के सर्वोच्च मेडल हीवेट, चांसलर, यूनीवर्सिटी ऑनर्स, समेत 11 गोल्ड मेडल, एक सिल्वर मेडल मिला। नितिन ने एससी कटेगरी के छात्रों में भी सर्वोच्च अंक रहे। ऐसे में उन्हें डॉ. आरएमएल मेहरोत्रा गोल्ड मेडल भी दिया गया। इसके अलावा एक सर्टीफिकेट अवॉर्ड व चार बुक प्राइज अवॉर्ड मिलाकर कुल 17 अवॉर्ड नितिन को मिलने पर हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा।

वहीं, एमबीबीएस में दूसरे स्थान पर व लड़कियों में टॉपर आकांक्षा रहीं। आकांक्षा को कुल दस अवॉर्ड मिले। इसमें सात गोल्ड मेडल व एक सिल्वर मेडल है। इसके अलावा दो बुक प्राइज रहे। एमबीबीएस में तीसरे नंबर पर अंजलि सिंघल रहीं। उन्होंने तीन गोल्ड मेडल व एक सिल्वर मेडल झटकने में सफलता पाई है।

उधर, बीडीएस में अंजली मल्ल ने सर्वोच्च अंक हासिल किए हैं। अंजिल मल्ल ने एचडी गुप्ता गोल्ड मेडल, डॉ. गोविला गोल्ड मेडल, डॉ. संतोष जैन गोल्ड मेडल, वेदवती गोल्ड मेडल समेत सात गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाकर टॉप किया।

इस दौरान कुलपति लेप्रो विपिन पुरी, प्रति कुलपति प्रो. विनीत शर्मा, कुलसचिव आशुतोष दुबे समेत सभी डीन, विभागाध्यक्ष मौजूद रहे। कुलपति ने वार्षिक रिपोर्ट पेश की। समारोह में 46 लोगों को मेडल, बुक प्राइज, सर्टीफिकेट अवॉर्ड दिए गए।

केजीमयू का दीक्षा समारोह सोमवार यानी आज आयोजित है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करने उत्‍तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल व विशिष्ट अतिथि चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना पहुंच चुके हैं। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वर्चुअली छात्रों-शिक्षकों को संबोधित करेंगे। टॉपरों को लेकर कुल 46 मेधावियों को 86 अवॉर्ड मिलेंगे। इसमें किसान के बेटे को बेस्ट वर्क का गोल्ड मेडल प्रदान किया जाएगा।

बता दें, केजीएमयू 21 दिसंबर को 16वां दीक्षा समारोह मना रहा है। वहीं, 22 दिसंबर को 115वां स्थापना दिवस होगा। रविवार को कन्वेंशन सेंटर में शिक्षक-अफसरों ने कार्यक्रम का रिहर्सल किया था। कुल 86 अवॉर्ड बांटे जाएंगे। इसमें 73 मेडल होंगे, शेष बुक व कैश प्राइज हैं। कुल पदकों में 70 गोल्ड मेडल हैं। तीन सिल्वर मेडल प्रदान किए जाएंगे। मंगलवार को स्थापना दिवस पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मुख्य अतिथि होंगे। वह भी वर्चुअली शामिल होंगे। संस्थान के प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने कहा कि समारोह में शामिल होने वाले सभी मेधावियों से कोविड के लक्षण न होने का पत्र लिखवाकर जमा कराया जा रहा है। साथ ही हाल में प्रवेश के वक्त स्क्रीनिंग भी होगी।

किसान का बेटा बना डॉक्टर

जौनपुर के परसूपुर निवासी डॉ. नीरज वर्मा को मेडिसिन विभाग में बेस्ट वर्क के लिए गोल्ड मेडल प्रदान किया गया है। उनके पिता लाल मदन चंद किसान हैं। वहीं मां मनोरमा गृहिणी हैं। नीरज के मुताबिक, उन्होंने गांव के सरकारी स्कूल में कक्षा पांच तक पढ़ाई की। वहां नीम के पेड़ के नीचे कक्षाएं चलती थीं। 10वीं और 12वीं की पढ़ाई लखनऊ आकर की। बचपन से डॉक्टर बनने का सपना पाले नीरज ने केजीएमयू से ही एमबीबीएस किया। इसके बाद ग्रामीण क्षेत्र में दो वर्ष नौकरी की। अब एमडी भी केजीएमयू से पास कर ली है। वर्तमान में अमेठी में कोविड अस्पताल का आइसीयू संभाल रहे हैं।

दीपा उत्तराखंड में करेंगी कैंसर का इलाज 

देहरादून निवासी दीपा अग्रवाल ने एमडी रेडियोथेरेपी में टॉप किया है। उन्हेंं गोल्ड मेडल प्रदान किया जाएगा। दीपा के पिता आर्मी से सेवानिवृत्त हैं। मां गृहिणी हैं। वह परिवार की पहली डॉक्टर हैं। दीपा ने कहा कि पहाड़ों पर ओरल कैंसर, फेफड़े का कैंसर काफी लोगों को है। उनमें जागरूकता का अभाव है। ऐसे में वह उत्तराखंड में जाकर कैंसर का इलाज करेंगी। साथ ही दुर्गम इलाकों में कैंप लगाकर कैंसर के प्रति लोगों को जागरूक करेंगी।

टॉपर्स की लिस्ट

नितिन भारती, एमबीबीएस

द हीवेट गोल्ड मेडल, चांसलर मेडल, यूनिवॢसटी ऑनर्स मेडल, डॉ. आरएमएल मेहरोत्रा मेमोरियल गोल्ड मेडल, प्रो. एडी इंजीनियर गोल्ड मेडल, प्रो. सतीश चंद्रा धासमान गोल्ड मेडल, प्रो. पीसी दुबे मेमोरियल गोल्ड मेडल, एसडीके गोल्ड मेडल, कौशल्या देवी भाटिया और एमएल भाटिया गोल्ड मेडल, इंद्रा रानी और लक्ष्मी नारायण सक्सेना मेमोरियल गोल्ड मेडल, सिल्वर मेडल, सॢटफिकेट, डॉ. एएमवाई इंजीनियर बुक प्राइज, सिल्वर जुबिली रीयूनियन 1949-1954 एमबीबीएस बैच बुक प्राइज और दो डीपी ट्रस्ट बुक प्राइज।

आकांक्षा, एमबीबीएस

यूसी चतुर्वेदी गोल्ड मेडल, गया प्रसाद टंडन मेमोरियल गोल्ड मेडल, डॉ. राम बिहारी सिंह राठौर गोल्ड मेडल, देश दीपक मेमोरियल गोल्ड मेडल, डॉ. ए. कार गोल्ड मेडल, राय बहादुर कनौजी लाल गोल्ड मेडल, सेलबाई मेमोरियल गोल्ड मेडल, सिल्वर मेडल, सॢटफिकेट और दो डीपी ट्रस्ट बुक प्राइज।

अंजलि सिंघल, एमबीबीएस

प्रो. देवेन्द्र गुप्ता गोल्ड मेडल, प्रो. दिनकर चंद्रा गोल्ड मेडल, गोल्ड मेडल, सॢटफिकेट, सिल्वर मेडल और सॢटफिकेट औ दो डीपी ट्रस्ट बुक प्राइज।

अंजलि मल्ल, बीडीएस

डॉ. एचडी गुप्ता मेमोरियल गोल्ड मेडल, 10,000 रुपए नकद पुरस्कार, डॉ. गोविला गोल्ड मेडल, डॉ. संतोष जैन मेमोरियल गोल्ड मेडल, वेदावती शिला गोल्ड मेडल और सॢटफिकेट, इसके अलावा तीन अन्य गोल्ड मेडल और सट‍िफिकेट

  • हर्ष शानिश्वरा, एम. सीएच (प्लास्टिक सर्जरी) डॉ. बीआर अग्रवाल मेमोरियल गोल्ड मेडल
  • आदेश हनुमंत पालेकर, एम. सीएच (सॢजकल आंकोलॉजी) प्रो. एनसी मिश्रा मेमोरियल गोल्ड मेडल
  • खंडारे शुभदा ओमप्रकाश, डीएम (न्यूरोलॉजी) डॉ. एएम कार सेंचरी गोल्ड मेडल
  • हरा मोहन साहू, डीएम (न्यूरोलॉजी) सुत्ती नाग गोल्ड मेडल
  • कौशल कुमार गुप्ता, एम.सीएच (यूरोलॉजी) प्रो. टीसी गोयल गोल्ड मेडल
  • प्रशांत बफना, (डीएम रिह्यूमेटोलॉजी) डॉ. सिद्धार्थ कुमार दास गोल्ड मेडल
  • रोहन दीगरसे, एमसीएच (न्यूरो सर्जरी) सुरसारी दयाल मेमोरियल गोल्ड मेडल
  • आशीष तिवारी, डीएम (काॢडयोलॉजी) डॉ. रविकांत गोल्ड मेडल
  • सोनाली रत्नाकर, एमडी, प्रो. विनीता दास गोल्ड मेडल, डॉ. जॉय गोयल मुखर्जी गोल्ड मेडल
  • आयुषी शुक्ला, एमडी (ऑब्स्टेट्रिक्स एंड गाइनकोलॉजी) डॉ. एनबी दास मेमोरियल गोल्ड मेडल, देव रती गुप्ता मेमोरियल गोल्ड मेडल
  • मयंक मिश्रा, एमडी (मेडिसिन) जीडी श्रीवास्तव, शांति देवी गोल्ड मेडल
  • अंकिता सिंह, एमडी (मेडिसिन) डॉ. एनएन गुप्ता गोल्ड मेडल
  • नीरज वर्मा, डिपार्टमेंट ऑफ मेडिसिन सूरत कुमारी लाल बेस्ट वर्क गोल्ड मेडल
  • राहुल ताय गम, एमडी (कम्युनिटी मेडिसिन) गोल्ड मेडल, मेमोरी ऑफ डॉ. पुष्पा शर्मा इंस्टीट्यूट
  • अंकिता सिंह, एमडी (कम्युनिटी मेडिसिन) एमडी पोस्ट ग्रेजुएट गोल्ड मेडल
  • सुकीत एक्सेस, एमडी (एनेस्थीसिया) ठाकुर दास मेमोरियल गोल्ड मेडल
  • प्रिया दीक्षित, एमडी (एनेस्थीसिया) प्रो. आरपी बडोला सेंचरी गोल्ड मेडल
  • अपूर्वा गुप्ता, एमडी (एनेस्थीसिया) डॉ. रश्मि मेमोरियल गोल्ड मेडल
  • शौर्य वर्मा, एमएस (ऑप्थेलमोलॉजी)डॉ. गिरीश चंद्रा फाउंडेशन गोल्ड मेडल
  • शैलजा मिश्रा, एमएस (ऑप्थेलमोलॉजी) डॉ. बलजीत भाटिया मेमोरियल गोल्ड मेडल
  • दीपा अग्रवाल, एमडी (रेडियोथेरेपी) प्रो. अविनाश कुमार गोल्ड मेडल
  • सुयश द्विवेदी, साइकियाट्री विभाग साइकियाट्री एल्युमिनी गोल्ड मेडल
  • श्रेया महेश, एमडी (माइक्रोबायोलॉजी) प्लैटिनम जुबिली गोल्ड मेडल
  • अभिलाषा कुमारी, एमडी (पीडियाट्रिक्स) ठाकुर उल्फत सिंह गोल्ड मेडल, डॉ. रघुवेश प्रसाद मेमोरियल गोल्ड मेडल
  • अजय कुमार यादव, एमएस (जनरल सर्जरी) बाबू काशी राम धवन गोल्ड मेडल
  • ऋचा त्यागी, एमडी (रेस्परेटरी मेडिसिन) प्रो. आरएन टंडन गोल्ड मेडल
  • प्रवीण पांडेय, एमडी (साइकियाट्री) चतुर्वेदी चंद्रा सत्य प्रकाश मेमोरियल गोल्ड मेडल
  • शुभम श्रीवास्तव, एमएस (ऑर्थोपेडिक सर्जरी) डॉ. बीएन सिन्हा गोल्ड मेडल
  • निशिथ अग्रवाल, पंडित शीतला चरण बाजपेई गोल्ड मेडल
  • रीटिल सौरभ, डीजीओ स्टूडेंट उत्पलाक्षी नायर गोल्ड मेडल
  • रोहित गुरनानी, (रेडियोडायग्नोसिस विभाग) पद्मश्री डॉ. सब्या सच्ची सरकार गोल्ड मेडल
  • राहुल कुमार तिवारी, एमडी रेडियोडायग्नोसिस पद्मश्री डॉ. सब्या सच्ची सरकार गोल्ड मेडल
  • शैलेन्द्र गौतम, एमएस (ईएनटी) पंडित गोविंद प्रसाद शुक्ला नगद पुरस्कार
  • फिबादहुन सोहमत, एमडीएस प्रो. एनके अग्रवाल गोल्ड मेडल
  • स्वरार्डेकर अनुराधा विजय, फैकल्टी ऑफ डेंटल साइंसेज डॉ. अश्वनी कुमार ढोबल मेमोरियल गोल्ड मेडल
  • गीतिका गुप्ता, एमडीएस पीडियाट्रिक एंड प्रिवेंटिव डेंटिस्ट्री श्रीमती विद्या टंडन गोल्ड मेडल, डॉ. टीएन चावला गोल्ड मेडल
  • आशुतोष श्रीवास्तव, फैकल्टी ऑफ डेंटल साइंसेज डॉ. प्रदीप जयाना गोल्ड मेडल
  • आंचल गुप्ता, एमएससी (नॄसग) पद्मश्री डॉ. सब्या सच्ची सरकार गोल्ड मेडल
  • एकता वर्मा, एमएससी (नॄसग) पद्मश्री डॉ. सब्या सच्ची सरकार गोल्ड मेडल
  • डॉ यश जगधारी, एमडी (थीसिस) स्कॉलरशिप 30000 रुपए फॉर डॉ. जान्हवी दत्त पांडेय इंस्टीट्यूट
  • डॉ. आरसी आहूजा, एमिनेंट फैकल्टी मेंबर ऑफ मेडिसिन एलाइड सुपरस्पेशयलिटी डॉ. केबी भाटिया गोल्ड मेडल
  • डॉ. आरके सरन, एमिनेंट फैकल्टी मेंबर ऑफ मेडिसिन एलाइड सुपरस्पेशयलिटी डॉ. केबी भाटिया गोल्ड मेडल

दीक्षा समारोह फैक्ट

  • समारोह में कुल 46 लोगों को सम्मानित किया
  • इसमें 44 मेधावी हैं, दो डॉक्टरों को अवॉर्ड
  • कुल 86 अवॉर्ड दिए जाएंगे। इसमें 73 मेडल शामिल हैं
  • कुल मेडल में 70 गोल्ड व तीन सिल्वर मेडल शामिल हैं
  • तीन एमबीबीएस, एक बीडीएस टॉपर होगा सम्मानित
  • 20 गोल्ड मेडल एमडी, चार मेडल एमएस के मेधावियों को
  • एमसीएच में चार गोल्ड मेडल, डीएम कोर्स में चार गोल्ड मेडल
  • एमडीएस में पांच गोल्ड मेडल, डीजीओ में एक गोल्ड मेडल
  • एमएससी नर्सिंग में दो गोल्ड मेडल, डीजीओ का एक गोल्ड मेडल
  • एमबीबीएस छात्र को प्रो. देवेंद्र गुप्ता नया मेडल
  • तीन साल से लगातार बेटियों को  मिला हीवेट-चांसलर मेडल
  • चौथे साल लड़के ने जमाया हीवेट-चांसलर मेडल पर कब्जा