Vastu Tips: ये चार पौधे बना देंगे आपको कंगाल, घर के अंदर बिल्कुल भी न लगाएं

Vastu Tips In Hindi: वास्तु शास्त्र में पेड़-पौधे को पॉजिटिव एनर्जी से जोड़कर देखा जाता है। यह पौधे न सिर्फ घर का वातावरण शुद्ध करते हैं बल्कि ऑक्सीजन स्तर को भी बढ़ाने में मदद करते हैं। वहीं वास्तु के अनुसार, ये पौधे अपनी कुंडली में ग्रहों की दशा सही करने के साथ सकारात्मक ऊर्जा घर लाते हैं। इसी कारण हर कोई घर में विभिन्न तरह के पौधों को लगा लेता है। लेकिन इस बात को पूरी तरह से अनदेखा कर देते हैं कि वास्तु के मुताबिक कौन से पौधे घर के अंदर रखने है और कौन से बाहर। क्योंकि कुछ पेड़-पौधों को घर के अंदर लगाने से नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ाता है। इसके साथ ही ग्रहों की दशा पर बुरा असर पड़ता है। जिसके कारण शारीरिक, मानसिक के साथ-साथ आर्थिक स्थिति पर बुरी असर पड़ता है। जानिए वास्तु के मुताबिक घर के अंदर कौन से पेड़-पौधे बिल्कुल नहीं रखना चाहिए।

बोनसाई

बोनसाई के पेड़ को छोटे आकार में घर के अंदर आसानी से रख लेते हैं। खूबसूरत सा दिखने वाला पेड़ वास्तु के अनुसार अंदर बिल्कुल भी नहीं रखना चाहिए। क्योंकि यह जड़ों से बंधा होता है जिसके कारण घर में नेगेटिव एनर्जी बढ़ाने के साथ आमदनी पर बुरा असर पड़ता है।

अंग्रेजी आइवी (English Ivy)

बेल वाले इस पौधे को लोग घरों के बाहर दीवार में खूब लगाते हैं जोकि शुभ माना जाता है। वास्तु के अनुसार माना जाता है कि घर के बाहर इस पौधे को लगाने से आमदनी बढ़ जाती हैं। लेकिन उसके उल्टे कई लोग इसे खूबसूरत समझकर घर के अंदर रख लेते हैं। ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे घर में निगेटिव एनर्जी फैल जाती है। इसके साथ ही घर के सदस्यों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है।

कॉटन का पौधा

कपास के पौधे को भी घर के अंदर नहीं रखना चाहिए। कई लोग इसकी कुछ टहनियां तोड़कर घर के अंदर गमले में सजावट के लिए इस्तेमाल करते हैं। लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए क्योंकि ये घरों के अंदर की धूल को आसानी से पकड़ लेते हैं और यह दुर्भाग्य और गरीबी का प्रतिनिधित्व करता है। इसलिए इन पौधों को बाहर की तरफ ही रखना ही शुभ होगा।

मेहंदी का पौधा

कई लोग मेहंदी का छोटे आकार का पौधा घर के अंदर रख लेते हैं। लेकिन वास्तु के अनुसार ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इससे घर के अंदर गार्डन में लगाने से नेगेटिव एनर्जी बढ़ जाती है।

डिसक्लेमर

‘इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी