31 ट्रेनों में कंबल और बिस्तर सेवाएं फिर से शुरू, कोरोना के कारण लगाई गई थी रोक

कम होते कोरोना मामलों और यात्रा प्रतिबंधों में ढील को देखते हुए भारतीय रेलवे ने सामान्य कामकाज पर वापस लौटना शुरू कर दिया है। पश्चिम रेलवे ने यात्रियों को बड़ी राहत देते हुए 31 ट्रेनों में लिनेन सेवा फिर से शुरू कर दी है। यह घोषणा पश्चिम रेलवे के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से की गई है।

पश्चिम रेलवे के ट्वीट में कहा गया कि 12957/58 स्वर्ण जयंती राजधानी एक्सप्रेस और 12915/16 अहमदाबाद-दिल्ली आश्रम एक्सप्रेस में फिर से चादर मुहैया कराई जाने लगी है। इसके साथ ही, अब तक 31 पश्चिम रेलवे ट्रेनों में लिनन सेवाएं (चादर मुहैया कराना) शुरू की जा चुकी हैं।

इससे पहले एक ट्वीट में पश्चिम रेलवे ने कहा था कि 12951 एमएमसीटी-एनडीएलएस राजधानी एक्सप्रेस, 12953 एमएमसीटी-निजामुद्दीन एके राजधानी एक्सप्रेस और 12957 अहमदाबाद-नई दिल्ली स्वर्णजयंती राजधानी एक्सप्रेस में लिनन सेवाएं फिर से शुरू हो गईं। पश्चिम रेलवे की अन्य ट्रेनों में भी जल्द ही शुरू किया जाएगा।

भारतीय रेलवे ने हाल ही में ट्रेनों के अंदर लिनन और कंबल वितरण तथा पर्दों लगाने को फिर से शुरू करने के आदेश जारी किए थे। बता दें कि देश में कोरोना वायरस महामारी के कारण यह सेवाएं रोक दी गई थीं। रेलवे बोर्ड ने सभी रेलवे जोन के महाप्रबंधकों को भेजे गए आदेश में कहा है कि इन वस्तुओं की आपूर्ति तत्काल फिर से शुरू की जाएगी।

भारतीय रेलवे ने यात्रियों के लिए लिनन, भोजन और रियायतें प्रदान करने की सेवाओं को निलंबित कर दिया था। लेकिन, अब रेलवे ने इनमें से अधिकांश सेवाओं को फिर से शुरू कर दिया है। गौरतलब है कि यात्रियों को मिलने वाली रियायतें अभी भी निलंबित हैं।

रेलवे अधिकारियों ने मई 2020 में घोषणा की थी कि यात्रियों को एसी कोच में कंबल और पर्दे उपलब्ध नहीं कराए जाएंगे। यात्रियों को लंबी यात्रा के लिए अपने कंबल लाने की सलाह दी गई थी और एसी के तापमान को 24-25 डिग्री सेल्सियस तक सीमित रखा गया था।