आचार्य लोकेशजी “सूर्याभूषण अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार 2020” से सम्मानित हुए

आचार्य लोकेश से जुड़कर पुरस्कार व संस्था दोनों गौरवान्वित हुए है – शेखावत

नई दिल्ली: दिल्ली के इंडिया हेबिटेट सेंटर में सूर्यदत्ता ग्रुप ऑफ़ इंस्टीटूट्स द्वारा वार्षिक पुरस्कार समारोह का आयोजन किया गया जहाँ सूर्यदत्ता ग्रुप के प्रतिष्ठित “सूर्यभूषण अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार 2020″ एवं सूर्यागौरव राष्ट्रीय पुरस्कार 2020 से कई बड़ी हस्तियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक आचार्य डॉ लोकेशजी को उनकी संस्था के माध्यम से शिक्षा, स्वास्थ्य, चिकित्सा, आध्यात्मिक विकास और विश्व स्तर पर वंचित लोगों की आजीविका के लिए निस्वार्थ योगदान एवं आध्यात्मिक क्रांति लाने में अनुकरणीय योगदान के कार्यों के लिए “सूर्यभूषण अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार 2020” से सम्मानित किया गया।

केंद्रीय मंत्री श्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने वीडियो सन्देश के जरिये सूर्यदत्ता ग्रुप को वार्षिक राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार वितरण समारोह के आयोजन के लिए बधाई दी एवं कहा कि सूर्यदत्ता ग्रुप द्वारा “सूर्यभूषण अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार 2020” से श्रद्धेय आचार्य लोकेशजी को सम्मानित करने से पुरस्कार एवं सूर्यदत्ता ग्रुप स्वयं गौरवान्वित हुआ है। साथ ही उन्होंने जल सबंधी विषय को जन जन का आंदोलन बनाने हेतु प्रधानमंत्री मोदी जी के सपने को लेकर उनके मंत्रालय द्वारा किये जा रहे कार्यों से भी अवगत कराया।

अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त जैनाचार्य डॉ लोकेशजी ने कहा कि संतुलित व्यक्तित्व और संतुलित समाज के निर्माण के लिए नैतिक और चारित्रिक मूल्यों का उत्थान आवश्यक है। किसी व्यक्ति की स्थिति व्यक्ति की तुलना में अधिक प्रभावी होने के कारण वर्तमान समय में नैतिक और चारित्रिक मूल्य कम हो रहे हैं। मौजूदा हालात मे विकास कि अवधारणा व जीवन शैली को नए सिरे से परिभाषित करने की जरूरत हैं । उन्होने कहा कि धर्म का विकास से विरोध नही हैं किन्तु जो विकास अध्यात्म की नीव आधारित नही होता हैं वह वरदान के बजाय अभिशाप बन जाता हैं । उन्होंने कहा कि कोरोना की लड़ाई अभी ख़त्म नहीं हुई है हम सबको इसके विरूद्ध डटकर लड़ना होगा एवं जब तक नहीं दवाई, तब तक न बरते ढिलाई; दो गज की दूरी और मास्क है सबके लिए जरूरी जैसी बातो के जरिये कोरोना से बचने और सावधान रहने का पाठ भी पढ़ाया।

भारतीय जनता पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री श्याम जाजू जी ने सभी पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी एवं जीवन में और भी ज्यादा उत्कृष्ट कार्यों के साथ भारत देश का नाम विश्व स्तर पर कायम करने की कामना की।

सूर्यदत्ता एजुकेशन फ़ाउंडेशन के संस्थापक डॉ संजय चोरडिया ने सभी अतिथियों का सहर्ष स्वागत किया और कहा कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी देश की उन चुनिंदा बड़ी हस्तियों को सूर्यदत्ता ग्रुप के राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया जा रहा है जिन्होंने अपने-अपने क्षेत्र में अद्वितीय एवं अद्भुत कार्यों से भारत देश और भारतीय संस्कृति को देश-दुनिया के कोने-कोने तक पहुँचाया है, जिसमे मुख्य रूप से विश्व भारती के संस्थापक आचार्य डॉ लोकेशजी को सूर्यदत्ता ग्रुप के प्रतिष्ठित “सूर्यभूषण अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार 2020” सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर संस्कृति विश्विद्यालय की निदेशक डॉ दिव्या तंवर, श्री वेंकटनारायण, वरिष्ठ टी वी एंकर श्री मनीष अवस्थी, महाराष्ट्र सूचना केंद्र के उप निदेशक श्री दयानन्द कांबले एवं ग्लोबल टेक्नोलॉजी नेटवर्क के चेयरमैन श्री विजय के. मिश्रा को सूर्यागौरव राष्ट्रीय पुरस्कार 2020 से सम्मानित किया गया।