सीएम मनोहर लाल के बचपन के स्कूल पर हरियाणा में जबरदस्त सियासत, आप और भाजपा में छिड़ा ट्वीट वार

Politics on Manohar Lal School:  हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के बचपन के स्‍कूल को लेकर राज्‍य में सियासत गर्मा गई है। रोहतक जिले के भाली आनंदपुर गांव के इस सरकारी स्कूल को लेकर भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच ट्वीट वार शुुरू हो गया है। स्कूल की हालत को लेकर दोनों दलों के नेताओं में जबरस्त वाकयुद्ध छिड़ा हुआ है।

भाजपा और आम आदमी पार्टी के नेता एक-दूसरे को गलत ठहराते हुए स्कूल की वास्तविक हालत को बयां कर रहे हैं। रोहतक जिले में पड़ने वाले इस सरकारी स्कूल में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 1965 में कक्षा छह में प्रवेश लिया था और उन्‍होंने वहां 10वीं क्लास तक की पढ़ाई की थी। इसका पूरा रिकार्ड स्कूल में मौजूद है। मनोहर लाल के अनुसार, वह गांव बनियानी से पैदल भाली आनंदपुर के स्कूल में पढ़ाई के लिए जाते थे।

मुख्यमंत्री ने हाल ही में दो करोड़ 75 लाख रुपये की राशि से तैयार भाली आनंदपुर गांव के इस राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के बहुमंजिला भवन का उद्घाटन किया है। भाली आनंदपुर गांव के साथ अपने पुराने नाते का जिक्र करते हुए मनोहर लाल ने इंटरनेट मीडिया पर स्कूल की पुरानी बिल्डिंग और कमरे का फोटो शेयर किया था, जिसमें वह बचपन में पढ़ा करते थे। इस फोटो में मुख्यमंत्री स्वयं भी दिखाई दे रहे हैं।

मनोहर लाल के इस फोटो के शेयर करने के बाद आम आदमी पार्टी ने कहा कि जब सीएम अपने एक स्कूल की हालत ठीक नहीं करा सकते तो राज्य के बाकी सरकारी स्कूलों की अच्छी हालत की उम्मीद कैसे की जा सकती है।

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य डा. सुशील गुप्ता के आरोप पर भाजपा ने पलटवार करते हुए कहा था कि आप अपनी टीम को स्कूल में मौके का मुआयना करने भेजिए। पता चल जाएगा कि असलियत क्या है। वास्तव में मुख्यमंत्री ने अपने स्कूल के पुराने क्लासरूम का फोटो शेयर किया है, जबकि नई बिल्डिंग का उद्घाटन भी उनके द्वारा कर दिया गया है।

भाजपा की इस चुनौती के बाद आम आदमी पार्टी की टीम स्कूल में गई और एक वीडियो शेयर करते हुए कहा कि हमें कुछ खास बदलाव नजर नहीं आया है। आम आदमी पार्टी ने अपनी वीडियो में स्कूल की नई बिल्डिंग का जिक्र नहीं किया, जबकि पुरानी बिल्डिंग को जरूर दिखाया।

इस पर भाजपा ने कहा कि आप लोग हमेशा नकारात्मक राजनीति करते हैं। डा. सुशील गुप्ता ने अपने ट्वीट के जरिए पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वह राज्य के सभी स्कूलों की खराब हालत के वीडियो और फोटो शेयर करें, ताकि सरकार उन्हें ठीक कराए। यदि सरकार ठीक नहीं कराती तो हम 2024 में आ ही रहे हैं।

इसके जवाब में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के निजी सचिव अभिमन्यु सिंह ने बुधवार को एक वीडियो जारी किया, जिसमें मुख्यमंत्री द्वारा उद्घाटन की गई स्कूल की पूरी नई बिल्डिंग, स्मार्ट क्लासरूम और शिक्षक व बच्चे शामिल हैं। शिक्षक पढ़ा रहे हैं और बच्चे पढ़ रहे हैं। शानदार बिल्डिंग वीडियो में नजर आ रही है।

अभिमन्यु ने आम आदमी पार्टी पर वार करते हुए कहा, जो सही में नींद से सोया हो, उसे जगाया जाता है, लेकिन जो कंबल ओढ़कर सोने का नाटक कर रहा हो, उसे कैसे जगाया जा सकता है। अरविंद केजरीवाल और सुशील गुप्ता अपना चश्मा साफ कर लें।

‘वो कागज की कश्ती, वो बारिश का पानी, वो दरो-दीवार जहां बैठकर हमने सीखी थी क, ख, ग, घ की कहानी’, मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस शायराना अंदाज में अपने बचपन के स्कूल की फोटो इंटरनेट मीडिया के साथ साझा की थी। इस पर आम आदमी पार्टी ने विवाद खड़ा किया है।

हरियाणा में स्कूलों की हालत को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और हरियाणा के सीएम मनोहर लाल के बीच 2019 के विधानसभा चुनाव से पहले भी विवाद हो चुका है। भाली आनंदपुर स्कूल की पुरानी बिल्डिंग की फोटो शेयर करते हुए सीएम ने कहा था कि इस राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया। स्कूल पहुंचते ही 57 साल पुराना एक-एक दृश्य याद आ गया।

उन्‍होंने लिखा,  पुरानी कुईं का ठंडा पानी, अमरूद और बेरी का पेड़। सब यादें ताजा हो गई। स्कूल के इसी मैदान में गिंडी बनाकर पिट्टो और हाकी खेलते थे। अपने पुराने सहपाठियों रामफल कादियान, ओमप्रकाश और वजीर से भी मुलाकात हुई।