New Variant of COVID-19: UP में कोरोना वायरस के नया वेरिएंट की दस्तक से खलबली, ब्रिटेन से मेरठ लौटा है परिवार

क्रिसमस से पहले ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया वेरियंट मिलने से फैली खलबली अब विश्व के कई देशों में पहुंच गई है। ब्रिटेन से लौट रहे लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण मिलने से अब नया खतरा मंडराने लगा है। कोरोना वायरस के नए वेरियंट की दस्तक से उत्तर प्रदेश सरकार भी हाई अलर्ट पर है। ब्रिटेन से मेरठ लौटे एक परिवार के तीन लोग कोरोना संक्रमित हैं। ऐसी आशंका है कि उनमें कोरोना का नया वेरिएंट हो सकता है। इनमे एक छोटा बच्चा है।

मेरठ के प्रकरण को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार के माथे पर चिंता की गहरी लकीरें हैं। इस प्रकरण को लेकर मेरठ जिला प्रशासन के साथ ही उत्तर प्रदेश का स्वास्थ विभाग भी हाई अलर्ट पर है। फिलहाल इस परिवार पर निगाह रखी जा रही है। सरकार का मानना है कि इस मामले में अब कोई भी लापरवाही प्रदेश को भीषण मुसीबत में धकेल सकती है।

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के खतरे के बीच में मेरठ के टीपीनगर क्षेत्र में लंदन से आए एक परिवार के तीन लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण होने से स्वास्थ्य विभाग के माथे पर बल है। ब्रिटेन से भारत वापसी करने वाले इस तीन सदस्यीय परिवार में एक बच्चा भी पाजिटिव है। इनके घर में आने के बाद युवक के मां-बाप व भाभी की रिपोर्ट भी पाजिटिव आई है। पड़ोस में रहने वाले परिवार के भी नौ सदस्य संक्रमित मिले हैं। विभाग को आशंका है कि यह स्ट्रेन-2 का संक्रमण भी हो सकता है। इस प्रकरण की रिपोर्ट मिलने पर मेरठ के बाद लखनऊ में भी हलचल तेज है।

टीपीनगर क्षेत्र में लल्लापुरा, शंकर विहार का एक परिवार 14 दिसंबर को लंदन से मेरठ आया था। इस परिवार में यहीं रहने वाली एक महिला में वायरस के लक्षण मिले, जिसकी एंटीजन जांच पाजिटिव आई। इसके बाद लंदन से आए दंपती व दोनों बच्चों के साथ ही परिवार के अन्य सभी लोगों व पड़ोस में ही रहने वाले एक परिवार का आरटीपीसीआर टेस्ट कराया गया। शुक्रवार शाम को जारी रिपोर्ट में पहले लंदन से आए परिवार को निगेटिव बताकर सूचना लखनऊ भेज दी गई। रात आठ बजे के बाद पता चला कि लंदन से आए परिवार में तीन लोगों के साथ ही पिता व भाभी की रिपोर्ट भी पाजिटिव है। मां को दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पास ही रहने वाले एक परिवार के नौ सदस्य भी संक्रमित मिले हैं। इसकी सूचना भी लखनऊ भेज दी गई है।

मेरठ में इस तरह का केस सामने आने पर स्वास्थ विभाग अलर्ट हो गया। यहां संत बिहार टीपीनगर में ब्रिटेन से लौटे लोगों के घर के पास को कोरोना संक्रमित क्षेत्र घोषित करने के साथ वहां पर बैरिकेडिंग की गई है। जगह-जगह पर लोगों को अलर्ट करने के लिए पोस्टर्स भी लगवाए गए हैं।

मेरठ के सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि केंद्र सरकार ने नौ दिसंबर के बाद यूरोप से मेरठ पहुंचने वाले 44 यात्रियों की रिपोर्ट दी थी। इसमें से 12 यहां से देश के दूसरे हिस्से में जा चुके हैं। 32 में से 15 की जांच रिपोर्ट शुक्रवार रात मिली। इसमें लंदन से आने वाले एक ही परिवार के तीन लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव मिलते ही खलबली मच गई। शासन ने तीनों मरीजों में स्ट्रेन-2 की जांच के लिए सैंपल दिल्ली भेजने के लिए कहा है। परिवार को आइसोलेट कर स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में रखा गया है। एक यात्री बीच में मेरठ से लंदन लौट गया, जबकि हैदराबाद एवं दिल्ली के निवासी दस यात्रियों का पता मेरठ का दिया गया था, जिनके बारे में स्वास्थ्य विभाग जानकारी जुटा रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिए पूरी सावधानी बरतने के निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब कोरोना के इस नए स्ट्रेन को लेकर पूरी सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन देशों में वायरस का नया स्वरूप सामने आया है, ऐसे देशों से बीते 15 दिन में प्रदेश में आए लोगों के सम्पर्क में आये व्यक्तियों का पता लगाया जाए तथा उन्हेंं क्वारंटीन में भेजने की प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने इस सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग को एक हेल्पलाइन नम्बर जारी करने के निर्देश दिए।

ब्रिटेन से छह लोग पहुंचे अयोध्या, सभी पर निगरानी

ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन मिलने के बाद वहां से उत्तर प्रदेश लौटने वालों की निगरानी बढ़ा दी गई है। अयोध्या में नवंबर से अभी तक कुल छह लोग ब्रिटेन से यहां आ चुके हैं। इनमें दो नवंबर में ही आ गए थे, जबकि चार लोग दिसंबर में आए हैं। इनमें चार फैजाबाद शहर के हैं, जबकि एक गोसाईंगंज व एक बीकापुर के निवासी हैं। इस माह ब्रिटेन से आने वालों को आइसोलेशन में रखा जा रहा है। अब इनकी निगरानी कर रही है। ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने यहां भी सतर्कता बढ़ा दी है।