Delhi Air Pollution: बेहद खराब से गंभीर श्रेणी में बना हुआ है वायु प्रदूषण, एनसीआर के शहरों का भी बुरा हाल

दिल्ली-एनसीआर में लगातार वायु प्रदूषण में बढ़ोतरी हो रही है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, सोमवार को हवा की गुणवत्ता में थोड़ी सुधार हो सकती है, लेकिन एयर इंडेक्स बेहद खराब से गंभीर श्रेणी में बना रहेगा। इससे पहले दिल्ली-एनसीआर में रविवार को प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी हुई। इस वजह से दिल्ली एनसीआर में हवा की गुणवत्ता गंभीरता गंभीर श्रेणी में पहुंच गई। हालांकि, दिल्ली व गुरुग्राम में एयर इंडेक्स बेहद खराब श्रेणी में रहा। वहीं एनसीआर के अन्य शहरों में एयर इंडेक्स गंभीर श्रेणी में दर्ज किया गया। दिल्ली में भी शाम छह बजे एयर इंडेक्स गंभीर श्रेणी में पहुंच गया।

सीपीसीबी द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली का एयर इंडेक्स 396 दर्ज किया गया, जो बेहद खराब श्रेणी में उच्चतम स्तर पर है। एक दिन पहले दिल्ली का एयर इंडेक्स 337 दर्ज किया गया, जो बेहद खराब श्रेणी में निचले स्तर पर था। रविवार को शाम छह बजे दिल्ली का एयर इंडेक्स 403 पहुंच गया। दिल्ली के वातावरण में पीएम-10 का स्तर 288 से बढ़कर 392 माइक्रोग्राम पति घन मीटर पहुंच गया। वहीं, पीएम-2.5 का स्तर 164 से बढ़कर 234 माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर पर पर पहुंच गया। पीएम-10 का सामान्य स्तर 100 व पीएम-2.5 का सामान्य स्तर 60 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर निर्धारित है। इस लिहाजा से वातावरण में प्रदूषण का स्तर सामान्य से करीब चार गुना अधिक रहा।

स्थित यह है कि शाम साढ़े छह बजे दिल्ली में 38 में से 23 प्रदूषण निगरानी केंद्रों के आसपास के इलाकों में एयर इंडेक्स 400 से अधिक दर्ज किया गया। नेहरू नगर, ओखला, आरके पुरम, मुंडका व रोहिणी का इलाका सबसे अधिक प्रदूषित रहा। एनसीआर के शहरों में ग्रेटर नोएडा व गाजियाबाद सबसे अधिक प्रदूषित रहे। गुरुग्राम में सबसे कम एयर इंडेक्स 359 दर्ज किया गया।

दिल्ली एनसीआर का एयर इंडेक्स

  • ग्रेटर नोएडा- 418
  • गाजियाबाद- 407
  • फरीदाबाद- 404
  • नोएडा- 405
  • दिल्ली- 396
  • गुरुग्राम- 359

दिल्ली के विभिन्न इलाकों में एयर इंडेक्स

  • नेहरू नगर- 456
  • ओखला- 455
  • आरके पुरम- 452
  • मुंडका- 450
  • रोहिणी- 440