Breaking News: टेरर फंडिंग में एटीएस का गोरखपुर में छापा, मोबाइल शॉप में चल रही छानबीन

टेरर फंडिंग की जांच कर रही है एटीएस (एंटी टेररिज्म स्क्वाड) ने मंगलवार की सुबह गोलघर के बलदेव प्लाजा नईम एंड संस मोबाइल शॉप पर छापा मारा। सीओ के नेतृत्व में गोरखपुर पहुंची टीम सुबह 10 बजे से ही दुकान की तलाशी ले रही है कर्मचारियों को बाहर निकाल कर दुकान मालिक से टीम पूछताछ कर रही है। 2018 में भी एटीएस की टीम ने यहां छापा डाला था।

सुबह 10 बजे ही पहुंच गई एटीएस की टीम

सुबह 10 बजे एटीएस की टीम बलदेव प्लाजा स्थित नईम एंड संस मोबाइल की दुकान पर पहुंची। दुकान मालिक को बुलवाकर दुकान खुलवाया। डेढ़ घंटे से छानबीन चल रही है। एटीएस के छापे के बाद से बलदेव प्लाजा में हड़कंप मच गया है। अधिकांश दुकानदारों ने कस्टम टीम के छापे के अंदेशा में अपनी दुकानें बंद ली। एहतियात के तौर पर क्राइम ब्रांच और कैंट थाने की पुलिस को भी बलदेव प्लाजा बुलाया गया है। स्थानीय पुलिस अधिकारी  मामले को राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े होने की बात कहकर कुछ भी बोलने से इन्कार कर रहे हैं।

25 मार्च 2018 में एटीएस ने सील की थीं तीनों दुकानें

एटीएस (एंटी टेररिज्म स्क्वाड) ने 25 मार्च 2018 को हवाला कारोबार और देश विरोधी तत्वों के संपर्क में होने के संदेह में मोबाइल फोन के थोक कारोबार से जुड़ी फर्म नईम एंड संस के मलिक नईम के बेटों नसीम अहमद तथा बाबी को हिरासत में लिया था। टीम ने शहर में स्थित फर्म के तीन प्रतिष्ठानों पर दिन में छापेमारी कर 50 लाख रुपये से अधिक नकदी बरामद कर तीनों प्रतिष्ठानों से कंप्यूटर, हार्ड डिस्क और अन्य दस्तावेज कब्जे में लिए थे। गए हैं। उनके अलावा  खोराबार और शाहपुर क्षेत्र से तीन अन्य लोग हिरासत में लिए गए थे।

हिरासत में लिए गए थे कारोबारी भाई

कैंट क्षेत्र के रहने वाले कारोबारी भाइयों की कोतवाली क्षेत्र में आनंद कटरा और सुपर मार्केट तथा गोलघर स्थित बलदेव प्लाजा में तीन दुकानें हैं। कारोबारी भाइयों को हिरासत में लेने के बाद एटीएस ने आनंद कटरा स्थित दुकान से नकदी बरामद की। छापे की कार्रवाई के दौरान बलदेव प्लाजा स्थित दुकान से बाबी तथा सुपर मार्केट से नसीम को हिरासत में लेने के बाद दुकानों को सील कर दिया था। तीनों दुकान की तलाशी में मिले लैपटाप, कंप्यूटर की हार्ड डिस्क, पेन ड्राइव व दस्तावेज कब्जे में लिए थे।