असम : भाजपा में शामिल हुए कांग्रेस से निष्कासित दो विधायक, पार्टी पर लगाया अनुशासनहीनता का आरोप

असम में कांग्रेस पार्टी से निष्कासित विधायक राजदीप गोवाला और अजंता नेग भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं। दोनों नेताओं ने राजधानी गुवाहाटी में राज्य मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा की मौजूदगी में भाजपा ज्वाइन कर ली है। बता दें कि दोनों नेताओं को कांग्रेस ने कथित पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते पार्टी से निकाल दिया था।

पार्टी में शामिल होने के बाद अजंता नेग ने कहा, ‘कांग्रेस में कोई अनुशासन नहीं है और पार्टी दिशाहीन है। उनके राष्ट्रीय नेतृत्व को जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं की परवाह नहीं है। वहीं, राजदीप गोवाला ने कहा, ‘कांग्रेस एक दिशाहीन पार्टी है।’

असम में सरकारी मदरसे बंद करने के लिए विधानसभा में पेश किया गया विधेयक

असम में 610 सरकारी मदरसे हैं, जिन्हें बंद करने के लिए विधानसभा में विधेयक पेश किया गया है। भारी हंगामे के बीच तीन दिवसीय शीतकालीन सत्र के पहले दिन राज्य के शिक्षा एवं वित्त मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने विधेयक को सदन के पटल पर रखा। इसके तहत एक अप्रैल, 2021 से सरकारी मदरसों को सामान्य स्कूलों में बदलने का काम शुरू कर दिया जाएगा। हालांकि इस दौरान विपक्षी दलों कांग्रेस और एआइयूडीएफ ने विधेयक का जमकर विरोध किया।

13 दिसंबर को इसे लेकर एक प्रस्ताव को राज्य कैबिनेट द्वारा मंजूरी दी गई थी। राज्य सरकार का कहना है कि वो ‘शिक्षा को धर्मनिरपेक्ष’ बनाना चाहती है इसलिए यह निर्णय लिया गया है। इसके तहत राज्य में 198 उच्च मदरसे और 542 अन्य मदरसे किसी अन्य सामान्य शैक्षणिक संस्थान के रूप में संचालित होंगे। अक्टूबर में, सरमा ने घोषणा की थी कि राज्य में सभी सरकारी मदरसों और संस्कृत स्कूलों को बंद किया जाएगा।