ब्रिटेन से उत्तर प्रदेश लौटे 565 लोग लापता, खुद सामने नहीं आए तो होगी महामारी एक्ट में कार्रवाई

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तो कम हो गए हैं, लेकिन नए स्ट्रेन की दस्तक ने चिंता बढ़ा दी है। यूनाइटेड किंगडम (यूके) से उत्तर प्रदेश में लौटकर आए 565 लोग लापता हैं। सभी ने अपना मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ कर रखा है। फिलहाल अब तक जांच न कराए जाने के कारण स्वास्थ्य विभाग बार-बार इनसे खुद सामने आकर जांच कराने की अपील कर रहा था। अब उसने सख्त रुख अपना लिया गया है। फिलहाल इन्हें पासपोर्ट पर दिए गए पते के आधार पर ढूंढ़ा जा रहा है। अब इन्हें महामारी एक्ट के तहत कड़ी कार्रवाई किए जाने की चेतावनी दी गई है।

यूनाइटेड किंगडम से लौटे 1,655 लोगों की सूची भारत सरकार ने यूपी सरकार को सौंपी थी। फिलहाल इसमें जांच में सामने आया कि 60 नाम दोबारा दर्ज हैं। महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डॉ. डीएस नेगी का कहना है कि यूके से लौटे लोग खुद अपनी जांच कराएं, वरना वह घातक संक्रमण फैलाने का कारण बन सकते हैं। ऐसे में महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि मेरठ के बाद नोएडा में भी कोरोना के नए स्ट्रेन का रोगी मिला है। यूके से लौटी 30 वर्षीय महिला कोरोना के नए स्ट्रेन से संक्रमित पाई गई। नोएडा में रहने वाली इस महिला के नए स्ट्रेन से संक्रमित पाए जाने के बाद अब तक प्रदेश में नए स्ट्रेन से संक्रमित दो रोगी पाए जा चुके हैं। मेरठ में एक दो वर्ष की बच्ची भी नए स्ट्रेन से संक्रमित पाई जा चुकी है। फिलहाल यूके से लौटे लोगों और उनके संपर्क में आए कुल 2,500 लोगों के सैंपल जांच के लिए लैब भेजे जा चुके हैं। अभी तक 10 लोग संक्रमित पाए गए हैं, उसमें मेरठ के चार, नोएडा के तीन, गाजियाबाद के दो और बरेली का एक व्यक्ति शामिल है।

यूपी में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस से संक्रमित 1043 नए रोगी मिले है, जबकि 1202 मरीज स्वस्थ हुए हैं। अब तक कुल 5.84 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं और इसमें से 5.62 लाख लोग ठीक हो चुके हैं। अब रिकवरी रेट 94.14 फीसद है। बीते 24 घंटे में 12 और मरीजों की मौत के साथ अब तक कुल 8,352 लोगों की जान यह खतरनाक वायरस ले चुका है। एक्टिव केस 14,155 हैं। इस समय 6142 रोगी होम आइसोलेशन में हैं यानी घर पर कोरोना का इलाज करा रहे हैं। 1675 मरीज प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती हैं। बीते 24 घंटे में 1.52 लाख लोगों की कोरोना जांच की गई और अभी तक कुल 2.37 करोड़ लोगों का कोरोना टेस्ट किया जा चुका है।