बाइडन की जीत को पलटने के प्रयास के तहत पेंस के खिलाफ सांसद का मुकदमा खारिज

फेडरल जज ने शुक्रवार को एक रिपब्‍लिकन सांसद द्वारा दायर एक मुकदमे को खारिज कर दिया। मुकदमे में  6 जनवरी को कांग्रेस की बैठक में राज्यों से मिले इलेक्टोरल वोटों की गिनती और बाइडन की जीत का राह प्रशस्त करने में पेंस की भूमिका पर सवाल किए गए हैं। यह मुकदमा टेक्सास से सांसद लुई गोहमेर्ट ने अरिजोना के 11 निवासियों के

इसमें कहा गया है कि अमेरिकी राष्ट्रपति के निर्वाचन पर मुहर लगने की प्रक्रिया के लिए 6 जनवरी को अमेरिकी संसद की होने वाली एक बैठक में उपराष्‍ट्रपति माइक पेंस (Vice President Mike Pence) को इस बात की अनुमति दी जाए कि वे जो बाइडन के लिए इलेक्‍टोरल कॉलेज वोटों को खारिज कर सके। इसी बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपना आखिरी और बड़ा दांव आजमाएंगे। इस दौरान इलेक्टोरल कॉलेज की काउंटिंग के विरोध में ट्रंप को कई साथी रिपब्लिकन सांसदों का साथ मिलने की उम्मीद है।

राष्‍ट्रपति चुनाव में डोनाल्‍ड ट्रंप लगातार अपनी जीत का दावा कर रहे हैं और उन्होंने रिपब्लिकन सांसदों पर भी कानूनी लड़ाई के लिए आगे आने को लेकर दबाव बनाया। हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव (House of Representatives) के 140 सदस्य इलेक्टोरल वोट को काउंट किए जाने के खिलाफ वोट करेंगे। बता दें कि इलेक्‍टर्स के समूह को इलेक्‍टोरल कॉलेज यानि जनप्रतिनिधियों का निर्वाचक मंडल कहा जाता है। यही समूह राष्‍ट्रपति चुनता है। नियमों की बात करें तो इसके अनुसार, कांग्रेस के दोनों हाउस (हाउस और सीनेट) में जब नए राष्ट्रपति के चयन पर मुहर लग रही हो उस समय अगर कोई सदस्य विरोध दर्ज करता है तो इस इलेक्टोरल कॉलेज को गिनने को लेकर वोटिंग कराई जा सकती है।  छह जनवरी को पेंस संसद के उस संयुक्त सत्र की अध्यक्षता करेंगे जहां पर बाइडन और ट्रंप को मिले वोट अंतिम तौर पर गिने जाएंगे। सभी प्रांतों के इलेक्टोरल कॉलेज दो सप्ताह पहले अपना वोट डाल चुके हैं।

साथ दर्ज कराया। रिपब्लिकन पार्टी ने इन 11 लोगों को निर्वाचक नियुक्त किया था