गाजीपुर में विधायक के हत्‍यारे हिस्ट्रीशीटर ने साथियों संग पेट्रोल पंप पर गोलियां बरसाईं, एक की मौत

 सैदपुर थाना क्षेत्र के देवचंदपुर गांव स्थित पेट्रोल पंप पर मौजूद पेट्रोल पम्प संचालक के मित्र त्रिभुवन नारायण सिंह (55) को बुधवार की रात हिस्ट्रीशीटर ने गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। साथ ही दूसरे चौकीदार को भी असलहे की मुठिया से मारकर घायल कर दिया। उनका इलाज वाराणसी स्थित निजी नर्सिंग होम में चल रहा है। रात में सूचना पाकर पुलिस कप्तान ओमप्रकाश सिंह व एसपी सिटी गोपीनाथ मुंडे समेत कई थानों की पुलिस पहुंच गई।

देवचंदपुर गांव निवासी त्रिभुवन नारायण सिंह (55) पेट्रोल पंप संचालक अजय पांडेय के मित्र हैं और अक्सर शाम को पेट्रोल पंप पर जाते हैं। रात में भी पेट्रोल पंप पर थे। उनके चचेरे भाई शिवमूरत सिंह (41) रावल-गाजीपुर मार्ग पर स्थित इंडियन ऑयल के पेट्रोल पंप पर चौकीदार का काम करते थे। बुधवार की देर रात करीब दस बजे देवचंदपुर गांव का ही हिस्ट्रीशीटर शनि उर्फ कर्मवीर सिंह दो चार पहिया गाड़ियों से 10-12 अपराधियों के साथ पेट्रोल पंप पर पहुंचा और तेल भरवाया। इस बीच चौकीदार शिवमूरत बंदूक लिए हुए बाहर आए तो शनि ने बोला कि बंदूक मत दिखाओ। इसके बाद उसने अपने साथी से फायरिंग करने के लिए कहा। शनि के साथी ने दो राउंड हवाई फायरिंग किया।

इस दौरान पेट्रोल पंप मालिक शिवमूरत द्वारा मना करने पर शनि अपने सभी साथियों के साथ गाड़ी से उतर गया और ताबड़तोड़ गोलियां बरसाने लगा। इस बीच पेट्रोल पंप पर मौजूद देवचंदपुर निवासी त्रिभुवन नारायण सिंह (55) को एक गोली लग गई। गोली लगने के बाद त्रिभुवन बंदूक लेने के दौड़कर अंदर गए। तभी बदमाशों ने दौड़ाकर उन्हें कनपटी पर गोली मार दिया। पेट्रोल पंप संचालक के भाई नीरज पांडेय को भी मुठिया से मारकर घायल कर दिया। इसके बाद कई राउंड फायरिंग करते हुए भाग निकले। आनन-फानन इलाज के लिए त्रिभुवन व शिवमूरत को वाराणसी ले जाया। त्रिभुवन को वहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। शिवमूरत का इलाज चल रहा है। इस मामले में पेट्रोल पंप संचालक अजय पांडेय ने शनि उर्फ कर्मवीर सिंह एवं आनंद उर्फ ढोलक समेत 10-11 अज्ञात के खिलाफ तहरीर दिया है। एसपी ओमप्रकाश सिंह ने कहा कि नामजद अपराधियों के यहां दबिश दी जा रही है। वे फरार हैं। शीघ्र ही वह पुलिस गिरफ्त में होंगे।

विधायक की हत्या कर आया था चर्चा में: शनि ने वर्ष 2008-09 में विधायक बीजू पटनायक की हत्या की थी। उसी समय उसका नाम सुर्खियों में आया था। वह सैदपुर थाना का टॉप टेन अपराधी है। उसके खिलाफ हत्या लूट समेत कई मामले दर्ज हैं।