85 हजार घरों पर लगेगा टैक्स:GIS सर्वे के बाद नई संपत्तियों का हुआ सर्वे, 58 करोड़ रुपए वसूलेगा नगर निगम

कानपुर के 33 वार्डों में शुरू हुए जीआईएस सर्वे 17 वार्डों में पूरा किया जा चुका है। सर्वे में 85 हजार नई संपत्तियों को चिन्हित किया गया है। इनमें घर से लेकर कॉमर्शियल प्रॉपर्टी भी शामिल हैं। नगर निगम अब इन प्रॉपर्टी से हाउस टैक्स वसूलने की तैयारी में जुट गया है। इनमें कई प्रॉपर्टी ऐसी भी हैं जिनका मकान आवासीय में दर्ज है और मकान का कॉमर्शियल यूज किया जा रहा है। उनका टैक्स रिवाइज किया गया है।

58 करोड़ रुपए की धनराशि
नगर आयुक्त शिवशरणप्पा जीएन ने बताया कि 33 वार्डों में 85 हजार नई प्रॉपर्टी चिन्हित की गई हैं। 17 वार्डों में सर्वे का काम पूरा हो चुका है। अब इन प्रॉपर्टी को 15 दिनों के अंदर नोटिस जारी किया जाएगा। कुल 58 करोड़ रुपए हाउस टैक्स वसूला जाएगा। इससे नगर निगम की आय में भी इजाफा होगा।

16 वार्डों को 2 महीने का वक्त
जीआईएस सर्वे कर रहे हेमंत गांधी ने बताया कि शहर में 16 अन्य वार्डों का भी सर्वे पूरा हो चुका है। जोन से एनओसी मिलना बाकी है। 2 महीने में बाकी बचे 16 वार्डों में नई प्रॉपर्टी से भी हाउस टैक्स वसूला जाएगा। बता दें कि सर्वे का काम लखनऊ की कंपनी आईटीआई ने 2019 में शुरू किया था। कोविड के चलते 2 साल की देरी से सर्वे का काम चल रहा है।

इन एरिया की प्रॉपर्टी पर लगेगा हाउस टैक्स
यशोदा नगर ईस्ट और वेस्ट, जूही हमीरपुर रोड, सब्जी मंडी किदवई नगर, कल्याणपुर नार्थ और साउथ, अंबेडकर नगर, रतनलाल नगर, दहेली सुजानपुर, नौबस्ता, गोविंद नगर, बर्रा, आवास विकास समेत अन्य।

अभी इतनी प्रॉपर्टी देती हैं हाउस टैक्स

इस प्रकार पूरा हुआ सर्वे

  • 55 से अधिक वार्डों में कंपनी ने किया सर्वे
  • 3.20 लाख से अधिक प्रॉपर्टी का सर्वे किया गया
  • 88 हजार प्रॉपर्टी सर्वे में अधिक निकली
  • 33 हजार प्रॉपर्टी का नहीं हो सका है मिलान