प्रयागराज में जुमे को लेकर प्रशासन अलर्ट:ड्रोन कैमरे से रखी जाएगी नजर, अफसर भी किये गए तैनात

जुमे की नमाज को लेकर पुलिस की ओर से सुरक्षा इंतजाम बढ़ा दिये गए हैं। पुलिस अधिकारियों शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए धर्मगुरुओं के साथ बैठक की। वहीं पुलिस टीमों के साथ जुटे संगठनों के लोगों, मुस्लिम तंजीमों, समाजसेवियों से कहा कि वह क्षेत्र में रहें और हर जानकारी को पुलिस प्रशासन के साथ शेयर करें। एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि सुरक्षा के मद्देनजर ड्रोन कैमरे से भी हिंसाग्रस्त क्षेत्रों पर नजर रखी जाएगी, हालांकि स्थितियां पूरी तरह सामान्य हो चुकी है। वहीं डीएम संजय कुमार खत्री का कहना है कि सुरक्षा के मद्देनजर अफसरों को तैनात किया गया है।

10 जून को हुआ था बवाल

भाजपा नेता रहीं नुपूर शर्मा की ओर से एक न्यूज चैनल पर डिबेट के दौरान पैगम्बर साहब पर दिये बयान के बाद मुस्लिमों ने विरोध जताया था। उसी को लेकर प्रयागराज में 10 को जुमे के नमाज के बाद जमकर पत्थरबाजी, आगजनी और बमबाजी की घटना हुई थी। इस दौरान 18 से अधिक पुलिसकर्मी और मीडियाकर्मी घायल हो गए थे। इस दौरान उपद्रवियों ने पुलिस की 6 बाइकों को आग के हवाले कर दिया था वहीं मुस्तफा तिराहे के पास एक पीएसी के वाहन को उपद्रवियों ने आग लगा दिया दिया था। इस मामले में पुलिस की ओर से अब तक 103 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया है। वहीं 5400 अज्ञात उपद्रवियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

अटाला और आसपास की 90 प्रतिशत दुकानें खुलीं

10 जून को हुए बवाल के बाद अब स्थितियां लगभग पूरी तरह से सामान्य हो चुकी है। सड़कों पर रौनक है तो वहीं हिंसा प्रभावित क्षेत्र करेली, रसूलपुर, नुरुल्लाह रोड के आसपास की लगभग 90 प्रतिशत दुकानें खुलने लगी है। जिससे लोगों की जिंदगी पटरी पर आने लगी है।