नोएडा में श्रीकांत त्यागी के घर चला बुलडोजर:ओमेक्स सोसाइटी में महिला से की थी अभद्रता; गिरफ्तारी में STF समेत 12 टीमें लगीं

नोएडा की ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी में महिला से अभद्रता करने वाले श्रीकांत त्यागी पर प्रशासन ने बड़ा एक्शन लिया है। त्यागी का ओमेक्स सोसाइटी में अवैध निर्माण है। सोमवार सुबह प्रशासन बुलडोजर लेकर यहां पहुंचा और अवैध निर्माण तोड़ना शुरू कर दिया। त्यागी ने फ्लैट में जाने के लिए सोसाइटी के बेसमेंट से सीढ़ी बनवा रखी थी। टीम ने उसे भी तोड़ दिया है।

रविवार रात ही त्यागी के 15 गुर्गे सोसाइटी में घुस आए थे। उन्होंने यहां लोगों पर पत्थरबाजी की और मारपीट की। इससे पहले श्रीकांत त्यागी ने सोसाइटी की एक महिला और उसके पति को गालियां दी थीं। त्यागी की गिरफ्तारी के लिए STF और पुलिस की 12 टीमें लगाई गई हैं।

त्यागी की लोकेशन मिली, CCTV में भी दिखा
पुलिस को श्रीकांत त्यागी की लास्ट लोकेशन हरिद्वार और ऋषिकेश के बीच मिली है। उसका करीब 10 बार फोन ऑन-ऑफ हुआ है। वह हरिद्वार में एक जगह CCTV में भी कैद हुआ है। घटना के बाद नोएडा पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने थाना फेस-2 के प्रभारी सुजीत उपाध्याय को सस्पेंड कर दिया। उनकी जगह परम हंस तिवारी को लाया गया। फरार श्रीकांत त्यागी के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई होगी। इसके अलावा आरोपी नेता की संपत्ति भी कुर्क की जाएगी।

वीडियो वायरल होने के बाद त्यागी फरार, महंगी गाड़ियां जब्त
वीडियो वायरल होने के बाद से श्रीकांत त्यागी फरार है। तलाश में पुलिस ने दिल्ली, उत्तराखंड व UP में दबिश दी है। अफसरों ने कहा कि श्रीकांत त्यागी जब तक पकड़ा नहीं जाता, तब तक श्रीकांत त्यागी के घर के बाहर पुलिस तैनात रहेगी। परिवार के हर मूवमेंट पर नजर रखी जाएगी। पुलिस ने आरोपी की चार महंगी गाड़ियों को जब्त कर लिया है।

भाजपा सांसद पहुंचे तो भीड़ ने घेर लिया

सोसाइटी में हंगामे की सूचना के बाद भाजपा सांसद महेश शर्मा भी मौके पर पहुंचे थे। इसके बाद लोगों ने उनका घेराव कर लिया। शर्मा ने भीड़ के सामने ही किसी को फोन लगाया और तल्ख लहजे में कहा, ‘मेरे कहने पर पुलिस आई। मेरे जिलाध्यक्ष और मैं यहां पर हूं। हमें शर्मिंदगी महसूस हो रही है। हमारी सरकार है। 15 लड़के सोसाइटी में कैसे आए? इससे बड़ी शर्म की बात नहीं हो सकती है।’

सोसाइटी वाले बोले- लाठी-डंडे लेकर आए थे उपद्रवी
ओमेक्स सोसाइटी में रविवार रात करीब 3 घंटे तक सोसाइटी में अफरा-तफरी का माहौल रहा। सांसद, विधायक और DM समेत कई अधिकारी मौके पर पहुंचे। लोगों ने कहा कि जो युवक सोसाइटी में घुसे, वो त्यागी के गुंडे हैं। उसी के कहने पर आए थे। उपद्रवी युवकों ने सोसाइटी के लोगों पर पथराव भी किया। बच्चों का एक वीडियो आया था। इसमें बच्चे रो रहे थे। 6 युवकों को पकड़ लिया गया है।

सोसाइटी के लोगों ने बताया कि युवकों के हाथों में लाठी-डंडे थे। उन लोगों ने श्रीकांत त्यागी का पता पूछा था। इसके बाद उत्पात मचाना शुरू कर दिया। हिरासत में लिए गए युवकों का कहना है कि वो सभी त्यागी समाज से हैं। त्यागी संगठन से जुड़े हुए हैं। उन्होंने कोई भी बवाल नहीं किया।

भाजपा ने पल्ला झाड़ा पर त्यागी की तस्वीरें बड़े नेताओं के साथ
श्रीकांत त्यागी ने अपने ट्विटर अकाउंट के बायो में खुद को ‌BJP से जुड़ा नेता बताया है। भाजपा का एक लेटर पैड भी सामने आया है। इसमें युवा किसान समिति की राष्ट्रीय सूची में त्यागी का नाम दूसरे नंबर पर है। पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद महेश शर्मा ने श्रीकांत के भाजपा नेता होने से किनारा किया।

उन्होंने कहा, ”त्यागी का BJP से कोई संबंध नहीं है।” हालांकि, त्यागी के खास और खुद को BJP युवा मोर्चा का जिला मंत्री बताने वाले रवि पंडित की महेश शर्मा के साथ फोटो वायरल है। आरोप है कि रविवार की रात वह भी ओमेक्स सोसाइटी पहुंचा था।

अतिक्रमण के लिए त्यागी को नोटिस जारी किया गया था
नोएडा विकास प्राधिकरण के अफसरों का कहना है कि सोसाइटी के टावर एलेक्जेंड्रा D के फ्लैट-डी 003 के ग्रांउड फ्लोर पर अतिक्रमण को लेकर शिकायत की गई थी। 14 सितंबर 2019 को नोटिस जारी किया था। इसके बाद 16 दिसंबर को अंतिम नोटिस जारी किया गया। 7 दिन के अंदर फ्लैट को ठीक करने के लिए कहा गया था। इसके बाद भी ना तो कोई जवाब दिया गया और ना ही कोई अवैध निर्माण को हटाया गया।

पौधे लगाने से शुरू हुआ था विवाद
अवैध कब्जा हटाने के लिए शुक्रवार को सोसाइटी की महिला ने वहां पर पौधे लगाने शुरू कर दिए। जब इसकी जानकारी त्यागी को हुई तो वह महिला के साथ बदतमीजी करने लगा। त्यागी ने खुलेआम महिला और उसके पति को गालियां दीं। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।

पुलिस ने कहा कि सोसाइटी के सिक्योरिटी मैनेजमेंट से बातचीत की जाएगी। परिवार को सुरक्षा दी जाएगी। सुरक्षा को देखने के लिए एडिशनल CP मौके पर ही मौजूद रहेंगे।

अब सियासत शुरू…

प्रियंका बोलीं- बुलडोजर कार्रवाई दिखावटी
अब इस प्रकरण में सियासत शुरू हो गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर पूछा, ”क्या इतने सालों से भाजपा सरकार को नहीं पता था कि नोएडा के भाजपा नेता का निर्माण अवैध है? बुलडोजर कार्रवाई दिखावटी है। इन सवालों के जवाब से सरकार बच रही है। एक महिला के साथ खुलेआम अभद्रता व 10-15 गुंडे भेजकर महिलाओं को धमकाने की हिम्मत उसे कौन दे रहा है? कौन है जो उसको बचाता रहा? किसके सरंक्षण में उसका गुंडाराज और अवैध कारोबार फला-फूला?”

प्रसपा अध्यक्ष और विधायक शिवपाल यादव ने भी योगी सरकार की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा, ”श्रीकांत त्यागी भाजपा नेता है। इसलिए उसकी गिरफ्तारी नहीं हो रही है।”