Coronavirus Vaccine: जानें कोरोना वैक्सीन लगने के बाद क्या कर पाएंगे और क्या नहीं!

Coronavirus Vaccine: कोरोना वायरस वैक्सीन ड्राइव विश्वभर में शुरू हो चुकी है। भारत में भी वैक्सीन ड्राइव के पहले दिन एक लाख से ज़्यादा लोगों को शॉट लगाया गया। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार प्राथमिकता के स्तर पर पहले तीन करोड़ स्वास्थ्यकर्मी और फ़्रंटलाइन वर्करस को वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके बाद राज्य पुलिसकर्मियों, पैरामिलिटरी फ़ोर्सेस, फ़ौज, सैनिटाइजेशन वर्कर्स को वैक्सीन दी जाएगी।

इसके बाद 50 से ऊपर उम्र वालों और 50 से कम उम्र वाले उन लोगों को जो किसी न किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं, उन्हें वैक्सीन लगाई जाएगी। भारत में ऐसे लोगों की तादात 27 करोड़ है। 50 साल से कम उम्र के वो लोग भी टीकाकरण अभियान में शामिल होंगे जिनमें कोरोना के सिमटम्स हों।

वैक्सीन लगने से हर्ड इम्यूनिटी भी पाई जा सकती है, इसके अलावा ऐसी भी उम्मीद है कि हमारी ज़िंदगी पहले जैसी नॉर्मल भी हो जाए। हालांकि, वैक्सीन इस बात की गैरन्टी नहीं देती कि इससे महामारी पूरी तरह से ख़त्म हो जाएगी। हम जिन वैक्सीन का इस्तेमाल कर रहे हैं, वे एक तरह का एक्सपेरीमेंट है। इसलिए कोविड से पहले वाली लाइफस्टाइल का लौटना आसान नहीं है। हालांकि, वैक्सीन से हमारी ज़िंदगी शायद थोड़ी आसान हो जाए।

मास्क पहनना नहीं छोड़ना

वैक्सीन लगने का मतलब ये नहीं कि आपको अब मास्क पहनने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। इस वक्त मास्क उतारना सबसे बड़ा जोखिम होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि इस वक्त ये पता करना बेहद मुश्किल है कि किसे वैक्सीन लग चुकी है और किसे नहीं। इसके अलावा बड़ी तादात में इम्यूनाइज़ेशन हासिल करने में कम से कम एक साल का समय लगेगा। तब तक हमें वे सभी सावधानियों का ख्याल रखना है, जिनका हम इस वक्त रख रहे हैं।

आप 45 दिनों तक शराब नहीं पी सकते

एक वैक्सीन अपना काम पूरी तरह से तभी कर सकेगी, जब उसे एक सेहतमंद और मज़बूत इम्यून सिस्टम का सपोर्ट मिलेगा। यही वजह है कि एक्सपर्ट्स ने लोगों को कुछ दिनों के लिए शराब सहित कुछ चीज़ों से दूर रहने की सलाह दी है। उनके मुताबिक, वैक्सीन लगने के बाद लोगों को कम से कम 45 दिनों तक शराब और सिगरेट से दूर रहना होगा क्योंकि ये दोनों चीज़ें इम्यूनिटी को दबाती हैं।

कोविड-19 से संक्रमित लोगों की देखभाल कर सकते हैं

एक चीज़ जो आप वैक्सीन के सारी डोज़ लगवाने के बाद कर सकते हैं, वो है कोविड-19 से संक्रमित लोगों की देखभाल। यही वजह है कि वैक्सीन को सबसे पहले फ्रंट लाइन वर्कर्स के लिए उपलब्ध कराया गया है। लेकिन वैकसीन के बाद भी मास्क पहनना, शारीरिक दूरी और स्वच्छता बनाए रखने की सख्त ज़रूरत होगी।

शारीरिक दूरी का रखना होगा ध्यान

लोगों से 6 फीट की दूरी बनाए रखने से आप इस संक्रमण से दूर रह सकते हैं। कई तरह के शोध में ये साबित हुआ है कि सोशल डिस्टेंसिंग से संक्रमित होने से बचा जा सकता है। वैक्सीन लगने के बावजूद आपको लोगों से शारीरिक दूरी बनाए रखना होगा।

वैक्सीन के बाद भी नहीं कर पाएंगे ये चीज़ें 

वैक्सीन का मतलब ये नहीं है कि अब आप आज़ादी से पहले की तरह कहीं भी घूम सकेंगे या फिर भीड़-भाड़ वाले इलाके में जा सकेंगे। खासतौर पर वैक्सीन ड्राइव की शुरुआत में ये चीज़ें मुमकिन नहीं होंगी। जब तक हम हर्ड इम्यूनिटी तक नहीं पहुंचते, तब तक संक्रमण का ख़तरा बना रहेगा। याद रखें कि वैक्सीन सिर्फ वायरस को शरीर में फैलने से रोक सकेगी, लेकिन एक इंसान से दूसरे में संक्रमण को फैलने से नहीं रोक पाएगी।

बार, रेस्त्रां और ऐसी तभी जोखिम भरी जगहों पर जाना अब भी नामुमकिन होगा। लेकिन बड़ी आबादी को वैक्सीन लगने से स्कूलों, कॉलेजों और ऑफिसों को खोला जा सकेगा।