Vijay Hazare Trophy 2021 की इस दिन से हो सकती है शुरुआत, बाधा है किसान आंदोलन?

Vijay Hazare Trophy 2021: यह लगभग तय माना जा रहा है कि विजय हजारे टूर्नामेंट के लिए स्थान अभी-अभी संपन्न हुए सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट के समान होंगे। हालांकि, नॉकआउट मुकाबले एक अलग शहर में खेले जा सकते हैं, क्योंकि अहमदाबाद के मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम में भारत और इंग्लैंड के बीच दो टेस्ट मैच और पांच टी20 इंटरनेशनल मैच खेले जाने हैं। रविवार को इसी मैदान पर सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का फाइनल खेला गया।

मुंबई, बड़ौदा, कोलकाता, इंदौर और बैंगलोर के अलावा केरल में एक अन्य स्थान को लीग मैचों की मेजबानी करने का मौका मिल सकता है। चेन्नई टी20 टूर्नामेंट के लीग चरण (प्लेट डिवीजन) के लिए एक केंद्र था, लेकिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) कोच्चि को एक संभावित विकल्प के रूप में देख रहा है, क्योंकि चेन्नई का स्टेडियम पहले से ही दो अंतरराष्ट्रीय टीमों भारत और इंग्लैंड की मेजबानी दो टेस्ट मैचों में कर रहा है।

रिपोर्ट की मानें तो एकदिवसीय प्रारूप में खेला जाने वाला ये टूर्नामेंट 18 फरवरी से शुरू हो सकता है। बड़ौदा क्रिकेट संघ के एक अधिकारी ने क्रिकबज को बताया, “समान स्थानों को पसंद किया जा रहा है, क्योंकि स्थानीय संघों को प्रोटोकॉल पता हैं।” इसी तरह, महिलाओं के एक दिवसीय टूर्नामेंट के लिए बीसीसीआइ विजयवाड़ा, हैदराबाद और पुणे जैसे स्थानों पर विचार कर रही है। साथ ही साथ टियर -2 शहरों से भी संपर्क किया है, जिनके पास बायो-बबल के लिए अच्छे होटल हैं।

बोर्ड की योजनाओं में थोड़ी बाधा है, क्योंकि यह दिल्ली में चल रहे किसानों के आंदोलन के कारण अच्छी तरह से सुसज्जित दिल्ली और चंडीगढ़ में मेल नहीं खा सकता है। अहमदाबाद, जिसने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के नॉकआउट मुकाबलों की मेजबानी की है, उसको इस टूर्नामेंट से बाहर रखा गया है, क्योंकि यहां करीब एक महीने तक भारत और इंग्लैंड के बीच दो टेस्ट और पांच टी20 इंटरनेशनल मैच खेले जाएंगे।