इमरान के अरेस्ट केस के बारे में जानिए सबकुछ:लैंड माफिया को ब्लैकमेल करके 60 अरब की जमीन ली, ट्रस्ट में खुद-पत्नी और उसकी दोस्त

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को मंगलवार को इस्लामाबाद हाईकोर्ट से गिरफ्तार कर लिया गया। वो रविवार से फौज और खुफिया एजेंसी ISI को सीधे धमका रहे थे।

इमरान की गिरफ्तारी नेशनल अकाउंटेबिलिटी ब्यूरो (NAB) ने रेंजर्स की मदद से की। उन पर अल कादिर यूनिवर्सिटी केस में अरबों रुपए के घोटाले और मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। इस केस में खान की तीसरी पत्नी बुशरा बीबी और बुशरा की सबसे करीबी दोस्त फराह गोगी भी आरोपी हैं। फराह पिछले साल उसी दिन मुल्क छोड़कर भाग गई थीं, जिस दिन इमरान की सरकार गिरी थी।

यहां हम आपको अल कादिर यूनिवर्सिटी स्कैम और कुछ दूसरे मामलों के बारे में बता रहे हैं। खास बात ये है कि सुप्रीम कोर्ट और दूसरी अदालतों की मेहरबानी के चलते इमरान कभी भी उन केसेस में अदालतों के सामने पेश नहीं हुए, जिनमें उनके खिलाफ पुख्ता सबूत हैं।

अल कादिर यूनिवर्सिटी स्कैम को आसान भाषा में समझें

  • इस मामले में 4 अहम किरदार हैं। इमरान खान और पत्नी बुशरा बीबी, अरबपति लैंड माफिया मलिक रियाज और बुशरा की दोस्त फराह गोगी।
  • खान जब प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने मलिक रियाज को मनी लॉन्ड्रिंग केस में फंसाया। ब्रिटेन में रियाज की अरबों रुपए की प्रॉपर्टी जब्त करा दी। उसका एक गुर्गा भी लंदन में गिरफ्तार करा दिया, जिसके पास से 40 अरब पाकिस्तानी रुपए बरामद हुए। फिर दो डील हुईं। ब्रिटेन सरकार ने बरामद पैसा पाकिस्तान सरकार को लौटा दिया।
  • पैसा जब वापस आया तो इमरान ने कैबिनेट को इसकी जानकारी नहीं दी। पैसा वापस आने के पहले इमरान ने एक ट्रस्ट बनाया। नाम रखा-अल कादिर ट्रस्ट। इसने एक यूनिवर्सिटी बनाई जो मजहबी तालीम देने वाली थी। इसके बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में 3 मेंबर थे। इमरान खान, बुशरा बीबी और फराह गोगी।
  • इसके लिए अरबों रुपए की जमीन मलिक रियाज ने दी। बुशरा बीबी को डायमंड रिंग भी गिफ्ट की। बदले में रियाज के तमाम केस खत्म कर दिए गए।
  • होम मिनिस्टर राणा सनाउल्लाह ने इमरान की गिरफ्तारी के 2 घंटे बाद कहा- ये पाकिस्तान के इतिहास का सबसे बड़ा स्कैम है। कम से कम 60 अरब रुपए की चपत सरकारी खजाने को लगी। 13 महीने में एक बार भी इमरान या बुशरा पूछताछ के लिए नहीं आए। 3 साल में इस यूनिवर्सिटी में महज 32 स्टूडेंट्स ने ही एडमिशन लिया।