इस बैंक के ग्राहक नहीं निकाल पाएंगे पैसा, RBI ने लगाई रोक

महाराष्ट्र के नासिक स्थित इंडिपेन्डेन्स को-ऑपरेटिव बैंक लि. से पैसा निकालने पर रोक लग गई है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बुधवार को इसपर छह महीने की अवधि के लिए रोक लगा दी। आरबीआई ने कहा कि बैंक के 99.88 प्रतिशत जमाकर्ता पूरी तरह से ‘डिपोजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन’ (डीआईसीजीसी) बीमा योजना के दायरे में हैं। बीमा योजना के तहत बैंक में रकम जमा करने वाला हर ग्राहक अपनी 5 लाख रुपये तक की जमा राशि पर जमा बीमा दावा रकम डीआईसीसी से प्राप्त कर सकता है।

RBI ने कहा, ‘बैंक की जो मौजूदा स्थिति दिख रही है, वैसे में जमाकर्ता बचत या चालू खाता अथवा अन्य किसी भी खाते से जमा राशि में से कोई भी रकम नहीं निकाल पाएंगे। ग्राहक जमा के बदले कर्ज का निपटान कर सकते हैं जो कुछ शर्तों पर निर्भर है।’

आरबीआई ने पाबंदियों को बढ़ाते हुए कहा कि बैंक के मुख्य कार्यपालक अधिकारी आरबीआई की पूर्व मंजूरी के बिना कोई भी कर्ज नहीं देंगे या नवीनीकरण नहीं करेंगे। इसके अलावा उन्हें किसी तरह के निवेश या भुगतान की अनुमति नहीं होगी। बैंक पाबंदियों के साथ अपना बैंकिंग कारोबार पहले की तरह करता रहेगा। केंद्रीय बैंक ने कहा कि वह परिस्थिति के हिसाब से निर्देशों में बदलाव कर सकता है। यह पाबंदी तब तक रहेगी जब तक वित्तीय स्थिति में सुधार न हो जाए।

अगर आप पर्सनल लोन के लिए सोच रहे हैं तो भारतीय स्टेट बैंक (SBI) एक लाख रुपये की लोन राशि व पांच साल की अवधि वाले पर्सनल लोन पर 9.60 से 15.65 फीसद तक ब्याज दर की पेशकश कर रहा है। वहीँ, पंजाब नेशनल बैंक पर्सनल लोन पर 8.45 से 14 फीसद तक ब्याज दर की पेशकश कर रहा है। यहां ईएमआई 2049 से 2327 रुपये के बीच बनेगी। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया 8.35 फीसद से 10.20 फीसद तक की ब्याज दर की पेशकश कर रहा है।