UP के 13 शहरों में भारी बारिश का अलर्ट:​​​​​​​लखनऊ में सुबह बारिश, 6 अगस्त तक ऐसा ही रहेगा मौसम; 29 जिलों में सूखे के हालात

यूपी के 13 शहरों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। 19 शहर ऐसे हैं, जहां हल्की बारिश हो सकती है। मंगलवार सुबह लखनऊ में बारिश हुई। आसमान में बादल छाए हुए हैं। आज पूर्वी यूपी के ज्यादातर शहरों में बारिश के आसार हैं। वहीं, 29 जिलों में लगातार कम बारिश से सूखा की स्थिति बन गई है।

13 जिलों में हो सकती है भारी बारिश
मौसम विभाग के मुताबिक यूपी में बारिश की गतिविधियां फिर से जोर पकड़ रही है। आज फतेहपुर, बांदा, चित्रकूट, कौशांबी, प्रतापगढ़, जौनपुर, प्रयागराज, संतकबीरनगर, वाराणसी, मिर्जापुर, सोनभद्र, चंदौली और गाजीपुर में भारी बारिश के आसार हैं।

19 जिलों बारिश हल्की होने की संभावना
वहीं मौसम विभाग ने इटावा, कन्नौज, औरैया, जालौन, झांसी, ललितपुर, महोबा, हमीरपुर, कानपुर नगर, कानपुर देहात, उन्नाव, रायबरेली, अमेठी, सुल्तानपुर, अयोध्या, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और बलिया में हल्की बारिश होने की संभावना जताई है।

अब 6 अगस्त तक बढ़ी बारिश की संभावना
CSA यूनिवर्सिटी के मौसम विज्ञानी डा. एसएन सुनील पांडेय के मुताबिक, जिस तरह से मौसमी गतिविधियां बढ़ रही हैं। उसके चलते अगस्त में बारिश के दिन भी बढ़ गए हैं। अभी तक के आकलन से अगस्त में भी अच्छी बारिश के संकेत हैं। निम्न दबाव क्षेत्र अब उत्तरी बंगाल की खाड़ी के मध्य भागों पर है। एक संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 9.5 किमी ऊपर तक फैला हुआ है।

श्रावस्ती, चंदौली, बस्ती, सीतापुर में 31 जुलाई तक 50% बारिश
अब आपको उन जिलों के बारे में भी पढ़वाते हैं, जो अच्छी बारिश के आंकड़ों की छू नहीं सके। जून और जुलाई महीने की बात करें तो यूपी के 29 जिले बारिश नहीं होने या कम होने से रेड जोन में हैं। वहीं श्रावस्ती, चंदौली, बस्ती और सीतापुर 4 जिले ऐसे हैं, जहां 1 जून से 31 जुलाई तक 50% से भी कम बारिश दर्ज की गई है।

ये जिले कम बारिश की चपेट में
भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक शामली (27%), गाजियाबाद (41%), गौतमबुद्धनगर (42%), मथुरा (32%), हाथरस (24%), शाहजहांपुर (20%), हरदोई (28%), सीतापुर (52%), बहराइच (29%), श्रावस्ती (57%), बलरामपुर (32%), सिद्धार्थनगर (36%), महाराजगंज (47%), गोंडा (40%), बस्ती (55%), अयोध्या (28%), अमेठी (31%), रायबरेली (20%), फतेहपुर (35%), चित्रकूट (44%), प्रयागराज (43%), जौनपुर (35%), आजमगढ़ (43%), गोरखपुर (38%), गाजीपुर (30%), बलिया (35%), चंदौली (55%), सोनभद्र (32%) में सबसे कम बारिश रिकॉर्ड की गई। मौसम विभाग के मुताबिक इन जिलों को सूखा घोषित किया जा सकता है।

इन फसलों पर पड़ेगा असर
CSA एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के मौसम विज्ञानी के मुताबिक, खरीफ की फसलों को नुकसान हो सकता है। वहीं जिन जिलों में कम बारिश हुई है, वहां कृषि विज्ञानियों ने खेती में नमी के पर्याप्त बंदोबस्त करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा धान की फसलों को सूखे के प्रति सहनशील बनाने के लिए 2% यूरिया और 2% म्यूरेट ऑफ पोटाश का छिड़काव के निर्देश जारी किए हैं।

जुलाई में भी कम बारिश
मौसम विभाग के मुताबिक जुलाई में भी यूपी में 15% कम बारिश दर्ज की गई है। यूपी में एवरेज 261.70 मिमी. बारिश होती है। लेकिन, जुलाई में 221.20% बारिश दर्ज की गई। वहीं 1 जून से 31 जुलाई तक पूरे यूपी में 16% कम बारिश हुई। 357 के मुकाबले 298 मिमी. बारिश रिकॉर्ड की गई।