UPI से अब कैश भी विड्रॉ कर सकेंगे:ATM पर QR कोड स्कैन करने से निकल जाएगा पैसा, जानें इसकी पूरी प्रोसेस

यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस यानी UPI से अब कैश भी विड्रॉ किया जा सकेगा। मुंबई में चल रहे ग्लोबल फिनटेक फेस्ट में UPI एटीएम दिखाया गया है। इस एटीएम के इस्तेमाल के लिए कार्ड की जरूरत नहीं पड़ती। बस क्यूआर कोड स्कैन कर पैसा निकाला जा सकता है। गुरुवार को, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने इससे जुड़ा एक वीडियो शेयर किया है।

इस एटीएम को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने डेवलप किया है। यूपीआई एटीएम एक रेगुलर एटीएम के जैसे ही काम करेगा। नया UPI एटीएम अभी केवल BHIM UPI ऐप को सपोर्ट करता है, लेकिन यह जल्द ही गूगल पे, फोनपे और पेटीएम जैसे अन्य ऐप पर भी लाइव होगा। इस टेक्नोलॉजी को चरणों में रोलआउट किया जा रहा है।

कैसे काम करता है सिस्टम?

  • ATM मशीन पर UPI कार्डलेस कैश को सिलेक्ट करें।
  • 100, 500, 1000, 2000, 5000 जैसा अमाउंट चुने।
  • ATM पर QR कोड डिस्प्ले होगा ऐप से स्कैन करें।
  • यूपीआई पिन दर्ज करें, अब कैश बाहर आ जाएगा।

ATM को ‘मनी स्पॉट UPI ATM’ नाम दिया
जापान की कंपनी हिताची ने भी ऐसा ATM बनाया है। इस ATM को ‘मनी स्पॉट UPI ATM’ नाम दिया गया है। देशभर में इसके 3000 से ज्यादा लोकेशन पर ATM है। हिताची पेमेंट सर्विसेज एकमात्र वाइट लेबल ATM यानी WLA ऑपरेटर भी है जो कैश डिपॉजिट फंक्शन भी प्रदान करता है। ATM मशीनें जिनकी ओनरशिप, मेंटेनेंस और ऑपरेशन की जिम्मेदारी किसी नॉन-बैंकिंग सर्विस प्रोवाइडर के पास होती है उसे WLA कहा जाता है।

मई 2022 में RBI ने जारी किया था नया नियम
पिछले साल 19 मई को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने एक सर्कुलर जारी कर UPI के जरिए कैश विड्रॉल की सुविधा देने की जानकारी दी थी। सर्कुलर में RBI ने कहा था कि सभी बैंक, ATM नेटवर्क और व्हाइट लेबल ATM ऑपरेटर्स (WLAOs) अपने ATM पर ‘इंटर-ऑपरेबल कार्डलेस कैश विड्रॉल’ (ICCW) की सुविधा उपलब्ध कराएं।