हरियाणा 45 शहरों में बारिश का यलो अलर्ट:40 KM प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएं; अब तक 405MM पानी गिरा

हरियाणा के सभी 22 जिलों में मौसम विभाग ने बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है। सुबह से ही इन जिलों के 45 शहरों में बारिश का दौर शुरू हो गया है। इस दौरान 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से हवाएं चलने की भी संभावना है, इससे तापमान में काफी गिरावट दर्ज की जाएगी।

दोपहर तक के लिए कैथल, नरवाना, कलायत, थानेसर, गुहला, पेहोवा, शाहाबाद, अंबाला, कालका, भिवानी, रोहतक, बवानी खेरा, हांसी, हिसार, आदमपुर, नारनौंद , फतेहाबाद, सोनीपत, गन्नौर, समालखा, बापौली, घरौंडा, करनाल, इंद्री, रादौर, महम, गोहाना, जुलाना, इसराना, सफीदो, जींद, पानीपत, असंध, भनलोखेरर, नरवाना, टोहाना, कलायत, रतिया, थानेसर, पिहोवा, बराड़ा, जगाधरी, छछरौली, नारायणगढ़, पंचकूला में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं।

वहीं 1 जून से अब तक सूबे में 405 एमएम बारिश हो चुकी है, हालांकि सूबे में अगस्त और सितंबर में काफी कम बारिश हुई है, जिस कारण दोनों महीने सूखे की श्रेणी में दर्ज किए गए हैं।

आगे कैसा रहेगा मौसम
हरियाणा में अब मानसून विदाई की ओर है, ऐसे में बारिश की संभावनाएं अब सिर्फ 25 सितंबर तक ही हैं। मौसम विभाग के अनुसार 25 से पहले ही कुछ जिलों में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग की इस घोषणा को लेकर धान के काश्तकारों ने राहत की सांस ली है। इसका कारण है कि इस समय किसान अपनी धान की तैयार फसल को काटने में लगे हुए हैं।

बढ़ेंगी पराली जलाने की घटनाएं
हरियाणा में बारिश नहीं होने पर पराली जलाने की घटनाओं में वृद्धि शुरू हो जाएगी। पर्यावरण विशेषज्ञों के अनुसार बारिश की आशंका होने पर किसान पराली नहीं जलाते हैं, वहीं मानसून के हरियाणा से विदा होते ही हवाएं भी अपना रुख बदलेंगी। वह पूर्व से उत्तर पश्चिम की दिशा की ओर बहने लगेंगी। इससे NCR के जिलों में प्रदूषण बढ़ने के आसार और बढ़ जाएंगे।