अधीर रंजन ने ममता के विदेश दौरे पर तंज कसा:वे स्पेन जा सकती हैं, पर लोगों का दर्द नहीं समझ सकतीं

पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने स्पेन के दौरे पर गईं राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि ममता स्पेन जा सकती हैं, लेकिन लोगों का दर्द नहीं समझ सकती हैं।

राज्य में डेंगू फैल रहा है। हमने पहले ही ममता सरकार को आगाह किया था कि अगस्त-सितंबर में राज्य में डेंगू के मामले बढ़ते हैं, लेकिन उन्होंने कोई कदम नहीं उठाया। अधीर रंजन ने ये बातें मुर्शिदाबाद में मीडिया से कहीं।

अधीर ने ममता पर स्पेन के लग्जरी होटल में ठहरने पर भी हमला बोला। उन्होंने बहा कि हमने सुना है मुख्यमंत्री सैलरी नहीं लेती हैं। वे अपनी किताबों और पेंटिंग्स की बिक्री से अपना खर्चा उठाती हैं। तब वो मैड्रिड में 3 लाख रुपए प्रतिदिन कीमत वाले होटल में कैसे रुकी हैं?

अधीर ने कहा- ममता को बताना चाहिए कि इस लग्जरी ट्रिप पर उन्होंने कितने पैसे खर्च किए हैं? वे अपने साथ कौन से इंडस्ट्रियलिस्ट को ले गई हैं। उन्हें लोगों को बेवकूफ बनाना बंद कर देना चाहिए।हम जानना चाहते हैं कि स्पेन की कौन सी कंपनियां बंगाल में इन्वेस्ट करना चाहती हैं।

मोदी ने बुलेट का वादा करके गुलेर ट्रेन चला दी
वंदे भारत ट्रेन को लेकर अधीर ने कहा कि मोदी ने बुलेट ट्रेन का वादा किया था, लेकिन वे गुलेर ट्रेन चला रहे हैं। वंदे भारत अपनी असल रफ्तार पर नहीं दौड़ती हैं और उनका किराया सामान्य ट्रेनों से कहीं गुना ज्यादा है।

शांतिनिकेतन में RSS-TMC के बीच लड़ाई होती है
शांतिनिकेतन को UNESCO की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत सूची में शामिल होने पर अधीर ने कहा कि शांतिनिकेतन को किसी सर्टिफिकेशन की जरूरत नहीं है। वह अपने दम पर अपना मुकाम बनाए हुए है। पहले ये देखना चाहिए कि शांतिनिकेतन में पढ़ाई का वैसा माहौल बचा है या नहीं, जैसा रबिंद्रनाथ टैगोर चाहते थे। वहां रोजाना RSS और TMC की विचारधाराओं के बीच लड़ाई होती है।

मुर्शिदाबाद के कीरीतेश्वरी गांव को देश का सर्वश्रेष्ठ पर्यटन गांव का दर्जा मिलने पर अधीर रंजन ने कहा कि उस गांव में एक प्राचीन मंदिर के अलावा और कुछ नहीं है। वहां पर मंदिर की राजनीति की जाती है, उन्हें करने दीजिए। मैं चाहता हूं कि मुर्शिदाबाद में नवाबों के समय के आर्किटेक्चर को सुरक्षित रखा जाए। इस संबंध में मैंने केंद्रीय कानून मंत्री अर्जुन मेघवाल से मिलकर एक पत्र सौंपा है।

मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए महिला आरक्षण बिल लाया गया
संसद के विशेष सत्र में महिला आरक्षण बिल पास होने को लेकर उन्होंने कहा कि इसे सिर्फ इसलिए लाया गया है कि ताकि लोग जो असली परेशानियों से जूझ रहे हैं, उनसे ध्यान भटकाया जा सके। मोदी सरकार चुनाव से पहले नए मुद्दे खड़े करती है। कभी महिला आरक्षण बिल तो कभी एक राष्ट्र एक चुनाव। हमारे देश में ‘वन नेशन वन इलेक्शन’ को लागू करना आसान नहीं होगा। मोदी ये बात जानते हैं।

रमेश बिधूड़ी के विवाद पर अधीर बोले- नई संसद में भाजपा की नई सोच
लोकसभा में भाजपा सांसद रमेश बिधूड़ी द्वारा सपा सांसद दानिश अली को गालियां दिए जाने के मामले में अधीर ने कहा कि हमने स्पीकर को पत्र लिखा है। ये नई संसद में भाजपा की नई सोच है। जिस तरीके से भाजपा ने हमारी संसदीय परंपरा का अपमान किया है, उसकी हम निंदा करते हैं। जब हम संसद में अपनी बात रखते हैं, तो हमसे कहा जाता है कि हम पीएम का निरादर कर रहे हैं। जबकि भाजपा ने तो लोकतंत्र के सभी मूल्यों का अपमान किया है।