BJP नेताओं की पुलिस कमिश्नर से हॉट-टॉक:भाजपाइयों ने कहा-क्रॉस FIR लिखिए; कमिश्नर बोले-आप मुझसे बहस करने आए हैं

कानपुर में सिख दवा कारोबारी को पीट-पीटकर मरणासन्न करने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। मामले में भाजपा पार्षद सौम्या शुक्ला के पति अंकित समेत 5 लोग नामजद हैं। अंकित की गिरफ्तारी को लेकर सिख समुदाय सड़क पर उतर चुका है। वहीं, 4 दिन से फरार अंकित पर बुधवार को 25 हजार का इनाम घोषित किया गया। इसके बाद भाजपा नेता पुलिस पर क्रास एफआईआर का दबाव बनाने लगे।

BJP नेताओं ने बुधवार रात कानपुर पुलिस कमिश्नर के दफ्तर का घेराव किया। नेताओं की अगुवाई विधानसभा स्पीकर सतीश महाना के पीआरओ राकेश तिवारी कर रहे थे। टकराव की स्थिति बनी रही।

पुलिस कमिश्नर डॉ. आरके स्वर्णकार और BJP नेताओं के बीच हॉट टॉक भी हुई। BJP नेताओं ने यहां तक कह दिया कि क्रास FIR लिखिए या हमें भी गिरफ्तार कर लीजिए। पुलिस कमिश्नर ने भी दो टूक कह दिया कि जांच में जो दोषी होगा, उसके खिलाफ इनाम घोषित होगा। NBW होगा और जेल भेजा जाएगा।

अब आपको पढ़वाते हैं कि BJP नेताओं और पुलिस कमिश्नर के बीच क्या बातचीत हुई…
दरअसल, बुधवार देर रात पुलिस कमिश्नर दफ्तर को भाजपाइयों ने घेर लिया। यहां हंगामा शुरू हुआ। पुलिस वालों ने भी दफ्तर के गेट बंद कर लिए। हालांकि बाद में कमिश्नर ने बातचीत के लिए एक प्रतिनिधिमंडल को अंदर बुला लिया।

यहां बातचीत का दौर शुरू हुआ तो भाजपा नेताओं ने कहा कि पहले आप हमारी बात तो सुन लीजिए…पुलिस कमिश्नर ने कहा कि आपके पास एवीडेंस क्या है कि भाजपा पार्षद के साथ छेड़खानी हुई है। इसमें गिरफ्तारी होगी। आपने जो प्वाइंट्स दिए हैं, आपकी मांग को भी विवेचना में शामिल कर लिया जाएगा।

भाजपा नेता बोले आपने जो व्यापारी की तरफ से एफआईआर दर्ज की है, वो विवेचना करके दर्ज की है। विचेचना की थी उसकी…? पुलिस कमिश्नर (सीपी) ने कहा कि आप मुझसे बहस करने आए हैं क्या। इस पर भड़के बीजेपी नेता ने कहा कि सीपी साहब आप अगर अच्छे माहौल में बात करना चाहते हैं तो हम लोग तैयार हैं।

सीपी ने कहा मैंने आपसे क्लियर कट बताया है, उस वक्त भी बताया था और आज भी बता रहे हैं। तपाक से भाजपाई बोले, आप बता दीजिए तो हम लोग भी क्लियर कट बता दे रहे हैं। सीपी ने कहा कि जिसने अपराध किया है, उसको सजा मिलेगी। गिरफ्तारी होगी। गिरफ्तारी से जो बचेगा उसका एनबीडब्ल्यू होगा, इनाम होगा, धारा-82, 83 और कुर्की की कार्रवाई होगी। जो भी पुलिस की कार्रवाई है नियमत: होकर रहेगी।

भाजपाई बोले कि नहीं… हमारी महिला पार्षद के लिए कुछ नहीं होगा न…। आप सर अच्छे माहौल में बात नहीं करना चाहते हैं। सौम्या शुक्ला के साथ जो हुआ है उसका क्या होगा। सीपी ने कहा आपने जो तहरीर दी है उसकी जांच होगी। सर मुकदमा होना चाहिए। अगर आप मुकदमा नहीं लिखेंगे तो हम लोगों को भी जेल भेज दीजिए। हम लोगों के घरों की भी कुर्की कीजिए। अगर एफआईआर दर्ज नहीं होगी तो 10 हजार भाजपाई अपनी गिरफ्तारी देंगे।

भाजपाई फिर बोले सीपी साहब आप ने हमारी बात सुनने का प्रयास नहीं किया, अब आप को जो करना है कीजिए और हमें जो करना है हम करेंगे। इसके बाद राकेश तिवारी समेत अन्य भाजपा नेता उठकर चले गए।