नाइजीरिया में चरवाहों और किसानों की झड़प, 40 की मौत:पानी-जमीन को लेकर विवाद, इलाके में पुलिस और सुरक्षाबल तैनात

अफ्रीकी देश के नाइजीरिया के पठारी में सोमवार (20 मई) की देर रात 40 लोगों की हत्या कर दी गई। पठारी नॉर्थ सेंट्रल नाइजीरिया का एक गांव है, जहां चरवाहों और किसानों के बीच पानी-जमीन को लेकर झड़प हो गई।

न्यूज एजेंसी AP के मुताबिक, पुलिस अधिकारी अल्फ्रेड अलाबो ने बताया कि घटना शाम 5 (भारतीय समयानुसार रात 9) बजे हुई, जब पठारी बंगलाला के जंगलों के पास चरवाहे और किसान आपस में भिड़ गए। उन्होंने पूरे गांव पर हमला कर दिया। मौके पर सुरक्षाबलों को भेजा गया और उन्होंने सात हमलावरों को ढेर कर दिया। इसी दौरान 9 गांव वालों की जान चली गई।

इसके बाद चरवाहों और किसानों ने चारों तरफ से अंधाधुंध गोलीबारी चलाना शुरू कर दिया। फिर एक-दूसरे के लोगों को किडनैप कर लिया और कई घरों में आग लगा दी।

‘चरवाहों ने गांव में घुसते ही गोलीबारी की’
पठारी के रहने वाले बबांगीदा अलीयू ने बताया कि चरवाहों ने गांव में घुसते ही गोलीबारी शुरू कर दी थी। इसके बाद किसानों ने पलटवार किया और इसमें कई लोग घायल हो गए। नाइजीरिया के न्यूज चैनल टेलीविजन के मुताबिक, हाल के वर्षों में उत्तरी नाइजीरिया के ग्रामीण इलाकों में इसी तरह घटनाएं बढ़ी हैं। इसमें ज्यादातर स्कूलों और यात्रियों को निशाना बनाया गया है।

दिसंबर 2023 में ही यहां 150 लोगों की हत्या कर दी गई थी और कई लोगों को किडनैप किया गया था, जिनका आज तक कोई पता नहीं है।

नाइजीरिया 14 सालों से हिंसा का शिकार
नाइजीरिया पिछले 14 सालों से इस्लामी विद्रोह और अलगाववादी हिंसा का शिकार है। इस वजह से यहां पुलिस और सेना लगातार कमजोर हो रही है। स्थानीय पुलिस भी अब किसानों और चरवाहों के बीच लगातार झगड़ों से दूरी बना रही है।