HSSC को मिला नया चेयरमैन:AAG रह चुके हिम्मत सिंह ने ली शपथ; आचार संहिता के कारण नहीं हो पाई थी घोषणा

हरियाणा सरकार ने हिम्मत सिंह को हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (HSSC) का नया चेयरमैन नियुक्त किया है। इससे पहले हरियाणा सरकार के असिस्टेंट एडवोकेट जनरल के पद पर कार्यरत थे। लोकसभा चुनाव के दौरान आचार संहिता लागू होने की वजह से इसकी घोषणा नहीं की गई थी अब आचार संहिता हटने के बाद हरियाणा सरकार ने हिम्मत सिंह की नियुक्ति की अधिसूचना की जारी कर दी है।

हिम्मत सिंह को मुख्यमंत्री नायब सैनी ने चंडीगढ़ में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। अब प्रदेश में रूकी हुई सरकारी पदों पर भर्तियों में तेजी आएगी। अभी वित्त विभाग के सचिव अनुराग रस्तोगी को आयोग का अतिरिक्त जिम्मा दिया हुआ था।

हिम्मत सिंह कैथल जिले के खेड़ी मटरवा गांव के रहने वाले हैं। उन्होंने कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी से BA-LLB और LLM किया है। उन्हें वकील के तौर पर प्रैक्टिस करते हुए करीब 16 साल हो गए हैं। मौजूदा समय में वह एडिशनल एडवोकेट जनरल (AAG) की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।

रोड जाति से हैं हिम्मत सिंह

हिम्मत सिंह रोड़ समाज से हैं। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के अध्यक्ष बनने के रूप में रोड़ जाति को सरकार में एक बड़ा प्रतिनिधित्व मिला है। करनाल व कुरुक्षेत्र लोकसभा क्षेत्र की बात करें तो यहां रोड़ जाति का अच्छा खासा प्रभाव है।

इसके अलावा, हिम्मत सिंह ई-कस्टडी सर्टिफिकेट पहल, डिजिटल इंडिया अभियान का विकास और कार्यान्वयन का भी हिस्सा रहे हैं। उन्होंने हरियाणा में अपराध और आपराधिक ट्रैकिंग नेटवर्क और सिस्टम (CCTNS) डेटा एकीकरण परियोजना के को-ऑर्डिनेटर के रूप में भी कार्य किया है।

15 मार्च को भोपाल सिंह खदरी ने दिया था इस्तीफा

भोपाल सिंह खदरी इससे पहले HSSC के चेयरमैन थे। उन्होंने 15 मार्च 2024 को इस्तीफा दे दिया था। 12 मार्च को नायब सैनी के मुख्यमंत्री बनने के बाद खदरी ने यह फैसला लिया था। उनकी पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल के विश्वासपात्रों में गिनती की जाती है। वह पूर्व केंद्रीय मंत्री दिवंगत रतनलाल कटारिया के सचिव भी रह चुके हैं। भोपाल सिंह की प्रशंसा खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कर चुके हैंं।