मुरादाबाद में गोली मारकर मस्जिद के इमाम की हत्या:सुबह 4 बजे हमलावरों ने कॉल करके बुलाया, घर के बाहर सीने में मारी गोली

मुरादाबाद में मस्जिद के इमाम की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हमलावरों ने मंगलवार सुबह 4 बजे इमाम को कॉल करके बुलाया। घर से बाहर सीने में गोली मार दी। इमाम की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। लाश से थोड़ी दूरी पर 12 बोर का तमंचा मिला है। पुलिस मौलाना की पत्नी से पूछताछ कर रही है।

घटना शहर से सटे भैंसिया गांव की है। गांव के बीच में एक बड़ी मस्जिद है। इसमें रामपुर के चाऊपुरा मसवासी गांव के रहने वाले अकरम 15 सालों से इमामत करते थे। गांव में ही उन्होंने घर बना लिया था। इसमें इमाम अपनी पत्नी और 6 बच्चों के साथ रहते थे।

छत पर कमरे में सो रहे थे, कॉल कर बाहर बुलाया
गांव के प्रधान शान के पिता जब्बार ने बताया- मौलाना घर की दूसरी मंजिल पर सो रहे थे। सुबह 4 बजे के करीब उनके पास किसी की कॉल आई। मौलाना से बाहर आने को कहा। मौलाना नीचे उतर कर आए और घर का दरवाजा खोला। वहां से हमलावर उन्हें पकड़कर घर के पीछे एक खंडहर में ले गए। वहां गोली मारकर उनकी हत्या कर दी। मौलाना यहां 15 सालों से थे। उनका किसी से विवाद नहीं चल रहा था।

मस्जिद के इमाम की हत्या की खबर मिलते ही पूरा गांव इकट्‌ठा हो गया। तुरंत पुलिस को घटना की सूचना दी गई। SP सिटी अखिलेश भदौरिया और अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए। घटना के वक्त पत्नी आमना घर पर नहीं थी। वह रामपुर स्थित मायके गई थी। वारदात की सूचना पर घर पहुंची। SP सिटी अखिलेश भदौरिया और अन्य पुलिस अधिकारी उससे पूछताछ कर रहे हैं।