नारनौल में नागरिक अस्पताल में जमकर चले पत्थर:घायल युवक के इलाज के दौरान भिड़े 2 पक्ष; डॉक्टरों ने छिपकर बचाई जान

हरियाणा के नारनौल के सरकारी अस्पताल में रात को दो पक्षों के बीच हंगामा हो गया। इस दौरान दोनों पक्षों के बीच जमकर पत्थरबाजी हुई। अस्पताल कर्मियों व डॉक्टरों ने अंदर छुपकर अपनी जान बचाई। हंगामे की सूचना मिलने के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंची। हालांकि इस बारे में किसी भी पक्ष की ओर से कोई शिकायत नहीं दी गई है। पुलिस मामले में छानबीन कर रही है।

जानकारी अनुसार मोहल्ला खड़खड़ी में बीती रात दो पक्षों के बीच आपस में लड़ाई झगड़ा हो गया था। इस लड़ाई झगड़े में मोहल्ला माली टिब्बा का राहुल नामक युवक घायल हो गया था। घायल के पैर में चोट लगी थी। इसके बाद उसको नागरिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहां पर डॉक्टर उसका इलाज कर रहे थे। इसके बाद उसको हायर सेंटर रेफर कर दिया गया।

इस दौरान राहुल के साथ कई अन्य लड़के भी अस्पताल आ गए। वहीं राहुल के परिवार वाले तथा कुछ अन्य लोग भी अस्पताल के बाहर भी खड़े थे। तभी दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई। राहुल के परिवार वालों ने उनको पकड़ने की कोशिश की तो वह भाग गए। इसके बाद एक पक्ष ने अस्पताल के पास पड़े पत्थर दूसरे पक्ष के लोगों पर मारना शुरू कर दिया। इस पर राहुल के परिजनों ने डायल 112 पर कॉल करके पुलिस बुला ली।

अस्पताल में बदमाश युवाओं द्वारा पत्थर बरसाने के कारण अस्पताल के अनेक कर्मचारी अस्पताल के अंदर घुस गए। वहीं बाहर कुछ डॉक्टर भी खड़े थे। पत्थर बरसाने के चलते डॉक्टर भी अंदर चले गए। जिसके चलते कई कर्मचारी और डॉक्टर बाल बाल बच गए।

इस बारे में सिविल अस्पताल के डॉक्टर सरजीत सिंह ने बताया कि पहले सरकारी अस्पताल में एक पुलिस चौकी हुआ करती थी, जो अब बंद कर दी गई है। ऐसे में कर्मचारियों की सुरक्षा देने के लिए अस्पताल में दोबारा से पुलिस चौकी शुरू की जानी चाहिए।