मलावी के उपराष्ट्रपति का प्लेन क्रैश में निधन:मिलिट्री एयरक्राफ्ट 10 जून को रडार से गायब हुआ, अगले दिन मलबा मिला; सभी 9 सवार मारे गए

अफ्रीकी देश मलावी के उपराष्ट्रपति साउलोस क्लॉस चिलिमा की प्लेन क्रैश में मौत हो गई। मलावी के राष्ट्रपति लाजारस चकवेरा ने मंगलवार को इसकी पुष्टि की। उन्होंने बताया कि 24 घंटे के सर्च ऑपरेशन के बाद उपराष्ट्रपति के विमान का मलबा मिला है। एयरक्राफ्ट में 9 लोग सवार थे। इनमें से कोई जिंदा नहीं बचा।

मलावी के उपराष्ट्रपति का विमान सोमवार 10 जून की सुबह ही रडार से गायब हो गया था। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, एविएशन अथॉरिटी ने कई बार विमान से संपर्क करने की कोशिश की थी, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली।

चिलिमा का एयरक्राफ्ट भारतीय समय के मुताबिक सोमवार दोपहर 2 बजकर 47 मिनट पर मलावी की राजधानी लिलोंग्वे से रवाना हुआ था। यह करीब 45 मिनट बाद मजुजू शहर के एयरपोर्ट पर उतरने वाला था। हालांकि, खराब मौसम की वजह यह लैंड नहीं हो पाया। इसके बाद विमान को वापस लिलोंग्वे ले जाने का आदेश दिया गया। इसके बाद यह विमान लापता हो गया था। विमान को ढूंढने के लिए मलावी ने अमेरिका, ब्रिटेन, नॉर्वे और इजराइल की सरकार से भी मदद मांगी थी।

10 किमी इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया गया
मलावी के राष्ट्रपति लाजारस चकवेरा ने सोमवार को देश को संबोधित करते हुए कहा था कि मुझे पूरी उम्मीद है कि हम विमान और उसमें सभी सवार लोगों को समय पर खोजने में सफल रहेंगे। विमान जिस रास्ते से गुजर रहा था, वहां 10 किलोमीटर के फॉरेस्ट रिजर्व में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। हादसे को देखते हुए राष्ट्रपति ने बहामास के लिए अपनी यात्रा रद्द कर दी थी।

भ्रष्टाचार के आरोपों में गिरफ्तार हुए थे उपराष्ट्रपति
51 साल के चिलिमा पिछले 10 साल से मलावी के उपराष्ट्रपति थे। उन्हें अगले साल होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवार के तौर पर देखे जा रहा था। हालांकि, चिलिमा को 2022 में भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

पिछले महीने पब्लिक प्रॉसिक्यूशन के डायरेक्टर की तरफ से मामले को बंद करने के लिए नोटिस दायर किया गया था। इसके बाद मलावी की एक अदालत ने उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप हटा दिए। चिलिमा ने हमेशा आरोपों को बेबुनियाद बताया।