UP के उन्नाव में सड़क हादसा, 18 की मौत:बिहार से दिल्ली जा रही बस ओवरटेक करते समय टैंकर से टकराई, लाशें सड़क पर बिखरीं

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में बुधवार सुबह 5.15 बजे डबल डेकर बस और टैंकर की टक्कर हो गई। हादसे में बस सवार 18 यात्रियों की मौत हो गई। 19 घायल हैं। मृतकों में 14 पुरुष, 2 महिलाएं और 2 बच्चे हैं। बस बिहार के सीवान से दिल्ली जा रही थी।

हादसा लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर बांगरमऊ कोतवाली के पास हुआ। टक्कर इतनी भीषण थी कि बस की ड्राइवर साइड की बॉडी पूरी तरह अलग हो गई। यात्री बाहर गिर गए। उनकी वहीं मौत हो गई। हादसे के वीडियो सामने आए हैं। इनमें दिख रहा है कि सड़क पर लाशें बिखरी पड़ी हैं।

पुलिस ने बताया कि बस दूध के टैंकर को ओवरटेक कर के दौरान बेकाबू होकर टैंकर को टक्कर मारते हुई पलट गई। बस में 59 यात्री सवार थे। 22 सुरक्षित हैं। 18 मृतकों में अभी 16 की शिनाख्त नहीं हुई हैं। 15 घायलों का बांगरमऊ CHC में इलाज चल रहा है। 4 गंभीर घायलों को लखनऊ ट्रॉमा सेंटर रेफर किया गया है।

हादसे में घायल युवक ने कहा- सड़क पर लाशें ही लाशें बिखर गईं
बस हादसे में घायल यात्री शिवम ने बताया- हादसे के वक्त बस में सभी सो रहे थे। बस की स्पीड काफी तेज थी। हम लोगों ने कई बार ड्राइवर से कहा भी था कि बस धीरे चलाइए, लेकिन वह नहीं माना। फिर अचानक बहुत तेज आवाज आई। मैं हड़बड़ा गया। देखा तो बस के शीशे टूट गए थे। लोग बाहर सड़क पर पड़े थे। हम लोग पीछे बैठे थे, इसलिए बच गए। बस सड़क पर पलट गई। हादसा इतना भयानक की था कि सड़क पर लाशें ही लाशें दिख रही थीं।

ऐसा लगा भूकंप आ गया..
बस में सवार यात्री मोहम्मद उर्स ने बताया- मैं बिहार के शिवहर का रहने वाला हूं। हादसे के वक्त सो रहा था, तभी जोरदार आवाज हुई। ऐसा लगा भूकंप आ गया। मैं बस की दूसरी साइड बैठा था। बाल-बाल बच गया। मेरे हाथ में चोट आई है।

एक अन्य घायल प्रदीप ने बताया कि हम सो रहे थे। कुछ समझ नहीं पाए। जब आंख खुली तो सब सड़क पर पड़े थे। टक्कर बहुत भीषण थी। हम लोग दूसरी तरफ बैठे थे, इसलिए बच गए।

प्रत्यक्षदर्शी बोला- 10 लोग तो बीच सड़क पर मरे पड़े थे
हादसे के प्रत्यक्षदर्शी नरेश कुमार ने बताया- मैं खेतों की ओर जा रहा था, तभी तेज आवाज सुनाई दी। देखा तो बस और टैंकर की टक्कर हो गई। लोग बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे थे। हादसे को देखते ही मेरी रूह कांप गई। 10 लोग तो बीच सड़क पर मरे पड़े थे। थोड़ी देर में वहां 50-60 लोग पहुंच गए। कुछ समझ ही नहीं आ रहा था कि क्या किया जाए। लाशें सड़क पर बिखरी थी, कुछ लोग तड़प रहे थे। पुलिस आई तो उनको अस्पताल भेजा गया।

प्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए
उन्नाव DM गौरांग राठी ने बताया- हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिए गए हैं। घायल बांगरमऊ CHC में एडमिट हैं। गंभीर घायलों को लखनऊ ट्रॉमा सेंटर रेफर किया जा रहा। SP सिद्धार्थ शंकर मीणा ने बताया- बस की जांच की जा रही है। हादसे की वजह ओवरस्पीड बताई जा रही है। एक्सीडेंट के बाद एक्सप्रेस-वे पर जाम लग गया था। क्रेन से दोनों वाहनों को हटाया गया।

  1. 0515-2970767
  2. 9651432703
  3. 9454417447
  4. 8887713617
  5. 8081211289
  6. यात्री बोले-ड्राइवर से कहा था धीमे चलाओ, लेकिन नहीं माना
    हादसे में बस सवार 22 यात्री सुरक्षित हैं। कुछ को हल्की चोट आई हैं। प्रशासन इन्हें दूसरी बस से इनको घर भेजने का इंतजाम कर रहा है। पुलिस पूछताछ में उन्होंने बताया कि ड्राइवर बस को बहुत तेज चला रहा था। कई यात्रियों ने मना किया, लेकिन वह नहीं माना। रात के वक्त ज्यादातर यात्री सो गए। इसके बाद उसने स्पीड फिर से तेज कर दी। वह जल्दी से जल्दी दिल्ली पहुंचना चाहता था।

    पुलिस ने बताया कि बस का नंबर UP का है। बस ऑपरेटर का पता लगाया जा रहा है।

मृतकों के परिजनों को 2 लाख का मुआवजा
हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया। उन्होंने कहा-जिन लोगों ने अपनों को खोया है, उनके प्रति संवेदनाएं। ईश्वर उन्हें इस कठिन समय में संबल प्रदान करे। राज्य सरकार की देखरेख में स्थानीय प्रशासन पीड़ितों की हरसंभव मदद में जुटा है। प्रधानमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख का मुआवजा और घायलों को 50 हजार की मदद का ऐलान किया है। राष्ट्रपति द्रौपद्री मुर्मू ने भी हादसे पर दुख जताया है।

CM योगी ने अफसरों से कहा-घायलों का बेहतर इलाज हो
CM योगी ने घटना पर दुख जताया। उन्होंने अफसरों को सभी घायलों को इलाज कराने के निर्देश दिए। डिप्टी CM ब्रजेश पाठक ने कहा- हम बिहार सरकार के साथ संपर्क में हैं। जांच के बाद घटना के कारणों का पता चलेगा। अभी घायलों को बेहतर इलाज देना हमारी प्राथमिकता है। लाशें इतनी ज्यादा थी कि पुलिसकर्मी भी बेहोश हो गया।