शीना बोरा हत्याकांड- गायब हडि्डयां CBI ऑफिस में मिलीं:जांच एजेंसी ने कहा- अब इन्हें सबूत के तौर पर पेश नहीं करेंगे

शीना बोरा हत्याकांड को लेकर 10 जुलाई को मुंबई की ट्रायल कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान CBI ने कोर्ट में बताया कि अप्रैल में गायब हुईं हडि्डयां CBI के दिल्ली वाले ऑफिस के मालखाने में मिल गई हैं।

यह खुलासा उस दिन हुआ, जब कोर्ट को मिले एक ईमेल में आरोप लगाया गया कि शीना की हड्डियां गायब नहीं हुईं, बल्कि वे एक फोरेंसिक एक्सपर्ट के पास हैं, जिसने उनकी जांच की थी और जो गवाह के तौर पर अदालत के सामने गवाही दे रहा था।

ईमेल में आरोप लगाया गया है कि इस गवाह ने अचानक बहुत संपत्ति अर्जित कर ली है। ईमेल भेजने वाले ने खुद को फोरेंसिक विशेषज्ञ का भाई बताया।

इन हडि्डयों के न मिलने से पिछले महीने फोरेंसिक विशेषज्ञ की गवाही को रोक दिया गया था। हालांकि, CBI ने स्पष्ट किया कि इन अवशेषों को सबूत के तौर पर पेश नहीं किया जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि इनका FIR में जिक्र नहीं है।

प्रॉसिक्यूशन (अभियोजन पक्ष) ने कहा कि उसने सबसे पहले 24 अप्रैल को अदालत को शीना के अवशेषों के लापता होने के बारे में सूचित किया था और 10 जून को कहा कि वे नहीं मिल सके। अभियोजन के वकील सीजे नंदोडे ने कहा, ‘लेकिन इस बीच ऑफिस के मालखाने में दोबारा तलाश करने पर सामान यानी हड्डियां पड़ी मिलीं।’

2012 में ये हड्डियां रायगढ़ के पेन गांव के जंगल से जब्त की गईं थीं। पहले CBI ने इन्हें शीना बोरा के अवशेष बताया था। हड्डियों को जांच के लिए मुंबई के जेजे अस्पताल भेजा गया था। इस मामले में अब तक 91 गवाहों ने गवाही दी है। अगली सुनवाई शुक्रवार 12 जुलाई को होगी।

2012 में हत्या हुई, 2015 में मामला सामने आया
2012 में शीना बोरा की गला घोंटकर हत्या की गई थी। मामला 2015 में सामने आया था। INX मीडिया की पूर्व CEO इंद्राणी मुखर्जी, उनके पूर्व पति पीटर मुखर्जी और ड्राइवर श्यामवर राय पर हत्या का आरोप लगा।

कहा गया कि इन्होंने शव को महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के पेन गांव के जंगल ले जाकर जला दिया था। पुलिस ने पेन गांव से कुछ हड्डियां जब्त की थीं। जांच में पता चला था कि ये किसी इंसान की हैं। फिलहाल इंद्राणी, पीटर और श्यामवर जमानत पर हैं।

3 साल बाद हुआ था शीना की हत्या का खुलासा
3 साल तक शीना बोरा हत्याकांड के बारे में किसी को पता नहीं चला था। 2015 में एक दूसरे केस में पुलिस ने इंद्राणी के ड्राइवर राय को गिरफ्तार किया था। इस दौरान उसने शीना बोरा की हत्या का खुलासा किया। पुलिस को मिला शीना का कंकाल दो हिस्सों में था। जो हड्डियां गायब बताई गई थीं, पुलिस ने उनका DNA टेस्ट नहीं कराया था।