महिला दिवस पर बोले सीएम योगी आदित्यनाथ- महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलंबन से जुड़ा है मिशन शक्ति अभियान

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मिशन शक्ति अभियान के दूसरे चरण का शुभारंभ किया। लखनऊ स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित कार्यक्रम सीएम योगी ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की श्रीगणेश किया। उन्होंने कहा कि समाज और सरकार जब एक साथ चलेंगे तो समस्या का समाधान स्वतः हो जाएगा। मिशन शक्ति अभियान महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और स्वलंबन जब एक साथ जुड़ेगा तो नारी सशक्तीकरण का लक्ष्य स्वतः ही प्राप्त हो जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमने शारदीय नवरात्रि में मिशन शक्ति अभियान शुरू किया था। नारी शक्ति की प्रतीक मां दुर्गा के अनुष्ठान का कार्यक्रम हम वर्ष में दो बार करते हैं। दोनों अवसरों पर नारी शक्ति व उसकी महिमा के बारे में अवगत होते हैं। आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर हम मिशन शक्ति के दूसरे फेज से जुड़ रहे हैं। इस अवसर पर मैं आप सबका हृदय से स्वागत एवं अभिनंदन करता हूं।

महिलाओं को भयमुक्त वातावरण उपलब्ध कराने के लिए सेफ सिटी परियोजना चल रही है। इसके दूसरे चरण का लोकार्पण सीएम योगी की उपस्थिति में इंडियन बैंक की चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर व मैनेजिंग डायरेक्टर पद्मजा चंदरू ने किया लखनऊ के बाद सेफ सिटी योजना में वाराणसी, गोरखपुर, गौतमबुद्धनगर, आगरा और प्रयागराज को शामिल किया जा चुका है। अब मेरठ, कानपुर नगर, अलीगढ़, बरेली, झांसी, मुरादाबाद और सहारनपुर को भी योजना में शामिल किया जा रहा है।

मिशन शक्ति के तहत महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलंबन की दिशा में कदम बढ़ा रही उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार महिला सशक्तीकरण के कई और कदम उठाने जा रही है। मिशन शक्ति के दूसरे चरण की शुरुआत आठ मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर हो गई है। लखनऊ में इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित समारोह में महिला स्वावलंबन की मिसाल पेश करने वाली 11 उत्कृष्ट महिलाओं को सम्मानित किया गया। विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य कर रही इन महिलाओं अपने संघर्ष की कहानी भी साझा की।

समारोह में विशिष्ट अतिथि सुप्रीम कोर्ट की पूर्व न्यायाधीश ज्ञान सुधा मिश्रा ने 18 साइबर थानों में महिला साइबर क्राइम सेल व थानों में महिला पुलिस चौकी परामर्श केंद्र के साथ ही 13 बालिका छात्रावासों व चार राजकीय बालिका इंटर कॉलेजों के लोकार्पण किया। इसके अलावा इंडियन बैंक की सीइओ पद्मजा चुंदरु ने लखनऊ सेफ सिटी के तहत 45 पिंक बूथ ,18 पिंक शौचालय औऱ 660 स्ट्रीट लाइट का लोकार्पण किया गया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शिक्षा के जरिये ही महिलाओं के सशक्तीकरण को आगे बढ़ाया जा सकता है। महिलाओं की सुरक्षा, शिक्षा व आत्मनिर्भरता के लिए सरकार की कई योजनाओं की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार आधी आबादी को बराबरी का दर्जा देने के लिए कई कार्यक्रम चला रही है। महिलाओं को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहने की आवश्यकता है। जब तक महिलाएं जागरूक नहीं होंगी तब तक योजनाओं का पूरा लाभ नहीं उठा पाएंगी।

सीएम योगी ने कहा कि महिला सुरक्षा के लिए समाज मे जागरूकता भी बहुत आवश्यक है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 11 महिलाओं को सम्मानित भी किया। कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा, माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री गुलाब देवी व अन्य विशिष्ट अतिथि मौजूद रहे। इससे पूर्व कार्यक्रम को महिला स्वयं सेवी संगठन की संचालिका रवि रंजना पाल, थारू जाति की आरती राणा, धावक प्रियंका गोस्वामी व गोरखपुर में स्वयं सेवी समूह का संचालन कर रहीं वर्षा श्रीवास्तव ने भी संबोधित किया ।