DDA Flats Draw 2021: 1353 फ्लैटों का ऑनलाइन ड्रॉ, घर बैठे ऐसे देखें लाइव

जनवरी महीने के पहले सप्ताह में लॉन्च 1353 फ्लैटों की योजना का ड्रॉ दिल्ली विकास प्राधिकरण बुधवार को निकालने जा रहा है। डीडीए के इतिहास में यह पहली बार ऐसा होगा जब स्कीम की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी। यहां तक कि फ्लैटों का कब्जा भी ऑनलाइन ही दिया जाएगा। डीडीए अधिकारियों के मुताबिक, डीडीए आवासीय योजना-2021 के अंतर्गत दिल्ली के विभिन्न स्थानों पर 1353 फ्लैटों का आवंटन का ड्रॉ बुधवार को किया जाएगा। डीडीए के फ्लैटों का ड्रॉ सॉफ्टवेयर के जरिये रैन्डम नंबर जेनरेशन टेक्नीक के आधार होगा। ड्रॉ  दिल्ली हाई कोर्ट के एक रिटायर्ड जज की अध्यक्षता में तीन स्वतंत्र प्रेक्षकों के पैनल की देखरेख में आयोजित किया जाएगा। इनमें से अन्य दो सदस्य भारत सरकार के वरिष्ठ तकनीकी विशेषज्ञ हैं। आम लोग इस ड्रा को इंटरनेट के जरिये लाइव देख सकेंगे। बुधवार सुबह 11 बजे से अपने पर्सनल कम्प्यूटर, मोबाइल पर जाकर ( https://dda.webcast.ml) इसका लाइव टेलीकास्ट देख सकते हैं।

नहीं जाना पड़ेगा डीडीए दफ्तर

बता दें कि डी़डीए की इस योजना के लिए आवेदन, भुगतान, सफल आवेदकों को मांग पत्र जारी करना, आवेदन निरस्त व जमा राशि वापिस कराने की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन है। डीडीए के अधिकारियों का कहना है कि इस योजना में कुल 22752 आवेदन पत्र प्राप्त हुए थे। जिसमें से 253 एचआईजी, 757 एमआईजी, 52 एलआईजी तथा 291 ईडब्ल्यूएस (जनता फ्लैटों) के लिए आवेदन प्राप्त हुए थे। डीडीए के यह सभी फ्लैट द्वारका, जसोला, वसंत कुंज के साथ-साथ कई अन्य स्थानों पर उपलब्ध हैं।

गौरतलब है कि न्यू ईयर गिफ्ट के तौर पर डीडीए ने 2 जनवरी को ये योजना लॉन्च की थी, इसके तहत आवेदन करने की आखिरी तारीख 16 फरवरी रखी गई थी, अब इनका ड्रा निकाला जाएगा। ईडब्ल्यूएस फ्लैट के लिए धरोहर राशि 25 हजार, एलआइजी के लिए एक लाख तथा एमआइजी-एचआइजी के लिए दो लाख रुपये थे।

डीडीए अधिकारियों के मुताबिक मंगलवार तक इस आनलाइन योजना के लिए करीब 42 हजार लोग डीडीए की वेबसाइट पर पंजीकरण करा चुके हैं। करीब 6,800 लोग अपना फार्म भर चुके हैं। फ्लैटों की श्रेणी के हिसाब से गौर करें तो एमआइजी और एचआइजी फ्लैटों के लिए 925 लोग दो-दो लाख रुपये जमा करा चुके हैं।

एलआइजी फ्लैटों के लिए 220 लोग एक- एक लाख की अदायगी कर चुके हैं, जबकि ईडब्ल्यूएस फ्लैटों के लिए 25-25 हजार रुपये जमा कराने वालों की संख्या 300 पार कर चुकी है।