चीन नहीं लौट पा रहे भारतीय छात्र, गतिरोध दूर करने में लगा है भारतीय दूतावास; जानें पूरा मामला

चीन स्थित भारतीय दूतावास ने कहा है कि वह हजारों भारतीय छात्रों के संबंध में चीनी अधिकारियों से बात कर रहा है और उन्हें छात्रों की चिंता से अवगत करा रहा है। चीन के विश्वविद्यालयों और अन्य संस्थाओं में पढ़ने वाले ये छात्र कोरोना संक्रमण के दौरान भारत आ गए थे लेकिन अब चीनी प्रशासन की कड़ी बंदिशों के चलते ये वापस चीन नहीं पहुंच पा रहे हैं। इससे इन छात्रों की पढ़ाई का नुकसान हो रहा है।

चीन में कुल 4.40 लाख विदेशी छात्र पढ़ाई करते हैं। इनमें से 23 हजार भारतीय छात्र हैं। ज्यादातर भारतीय छात्र भारी शुल्क देकर चीनी मेडिकल कॉलेजों में मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं। बड़ी संख्या विज्ञान की पढ़ाई करने वाले छात्रों की भी है। ये सभी चीन में कोरोना संक्रमण के दौरान 2020 में भारत आ गए थे। लेकिन अब चीन में कोरोना का संक्रमण कमजोर पड़ चुका है और वहां की गतिविधियां सामान्य हो रही हैं, तब ये छात्र बंदिशों के चलते फिर से चीन नहीं जा पा रहे हैं। चीन के अधिकारी इनसे भारत में ही रहकर ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए कह रहे हैं। लेकिन प्रयोगात्मक पढ़ाई से दूर ये छात्र अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं। साथ ही विदेश में पढ़ाई के लिए मिलने वाला वजीफा भी रुक गया है।

भारतीय दूतावास ने कहा है कि वह पूरे मामले को चीनी अधिकारियों से संपर्क बनाए हुए हैं। उन्हें भारतीय छात्रों की चिंताओं से अवगत कराकर गतिरोध दूर करने का अनुरोध कर रहे हैं। कोशिश कर रहे हैं कि भारतीय छात्र जल्द चीन आएं और अपनी बाकी पढ़ाई पूरी करें।