Delhi Metro Phase-4 News: इन मेट्रो स्टेशनों पर बनने वाले 8 इंटरचेंज से बदल जाएगा लाखों यात्रियों का सफर

 Delhi Metro Phase-4 News: दिल्ली मेट्रो फेज-4 के तहत हो रहा निर्माण कार्य पूरा होते ही दिल्ली-एनसीआर में लाखों मेट्रो यात्रियों का सफर बेहद आसान होने वाला है। खासकर दिल्ली मेट्रो फेज-4 का काम पूरा होने पर दिल्ली से नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम, फरीदाबाद और बहादुरगढ़ का सफर आरामदायक हो जाएगा। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) लगातार अपनी सुविधाओं और सहूलियत में इजाफा करता जा रहा है। इस कड़ी में DMRC मेट्रो फेज-4 के तहत जनकपुरी वेस्ट से आरके आश्रम मार्ग के बीच निर्माणाधीन मेट्रो कॉरिडोर पर कुल 8 इंटरचेंज स्टेशन बनाएगा।

डीएमआरसी की मानें तो फेज-4 में जनकपुरी वेस्ट से आरके आश्रम मार्ग के बीच जो नया मेट्रो कॉरिडोर बनाया जा रहा है, उस पर 8 इंटरचेंज स्टेशन बनाए जाएंगे। इनमें नबी करीम, पुल बंगश और आर.के. आश्रम मार्ग एलिवेटेड होंगे, जबकि 5 स्टेशन अंडरग्राउंड होंगे। इसके बाद आजादपुर मेट्रो स्टेशन कश्मीरी गेट के बाद दिल्ली मेट्रो का दूसरा सबसे बड़ा इंटरचेंज हब बन जाएगा। यहां से यात्रियों को मेट्रो की येलो, पिंक और मजेंटा लाइन गुजरेगी। फिलहाल कश्मीरी गेट ही मेट्रो नेटवर्क का इकलौता मेट्रो स्टेशन है, जहां से एक साथ तीन मेट्रो लाइनें (रेड, येलो और वॉयलेट लाइन) गुजरती हैं।

इन सभी आठों इंटरचेंज स्टेशनों के बनने से पीतमपुरा, रोहिणी, आजादपुर, पीरागढ़ी, पंजाबी बाग, विकासपुरी, पश्चिम विहार से यात्री आसानी से सेंट्रल और नई दिल्ली तक आ-जा सकेंगे।

इन मेट्रो स्टेशनों पर बनेंगे इंटरचेंज

  1. पीरागढ़ी
  2. मधुबन चौक
  3. हैदरपुर-बादली मोड़
  4. मजलिस पार्क
  5. आजादपुर
  6. नबी करीम
  7. पुल बंगश
  8. आर.के. आश्रम मार्ग

फिलहाल मजेंटा लाइन के तहत बनाए गए ट्रैक पर जनकपुरी वेस्ट से बॉटनिकल गार्डन तक मेट्रो ट्रेनें संचालित हो रही हैं। 37.46 किलोमीटर लंबी इस मेट्रो कॉरिडोर पर कुल 25 मेट्रो स्टेशन बनाए गए हैं। इनमें 4 इंटरचेंज मेट्रो स्टेशन भी शामिल हैं। दिल्ली मेट्रो फेज-4 में निर्मित मजेंटा लाइन के तहत जनकपुरी वेस्ट से रामकृष्ण आश्रम मार्ग तक विस्तार किया जा रहा है। इस विस्तार में 28.92 किमी लंबा नया मेट्रो कॉरिडोर का निर्माण किया जाएगा। कुल 22 नए मेट्रो स्टेशन वाले इस कॉरिडोर पर 22 में से 8 मेट्रो इंटरचेंज स्टेशन होंगे। जैसे ही मजेंटा लाइन के विस्तार का विस्तार हो जाएगा, तो इस लाइन पर कुल 12 इंटरचेंज स्टेशन हो जाएंगे। इसी के साथ मजेंटा लाइन मेट्रो की सबसे ज्यादा इंटरचेंज स्टेशनों वाली लाइन बन जाएगी।