हाफिज सईद के साथ रहेगा पत्रकार डेनियल पर्ल का हत्यारा उमर शेख, भेजा गया लाहौर जेल

ब्रिटेन में जन्मे अल कायदा आतंकी अहमद उमर सईद शेख को पाकिस्तान में कराची की जेल से लाहौर की कोट लखपत जेल में स्थानांतरित कर दिया गया है। वह अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल का अपहरण कर उनकी गला काटकर हत्या करने का दोषी है। उसे मौत की सजा सुनाई जा चुकी थी लेकिन 2020 में उसे हैरतअंगेज तरीके से बरी कर दिया गया। लेकिन अमेरिका के दबाव के चलते वह जेल से रिहा नहीं किया गया।

द वाल स्ट्रीट जर्नल अखबार के दक्षिण एशिया के ब्यूरो चीफ पर्ल (38) की 2002 में अपहरण कर तब हत्या की गई थी, जब वह पाकिस्तान में थे। वह पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ और अल कायदा के संबंधों पर खोजपूर्ण स्टोरी कर रहे थे। पंजाब सरकार के एक अधिकारी के अनुसार 48 वर्षीय शेख को गुरुवार शाम कड़ी सुरक्षा के बीच हेलीकॉप्टर से कराची से लाहौर लाया गया। उसे जेल परिसर में बने एक रेस्ट हाउस में रखा गया है। पता चला है कि इसी रेस्ट हाउस में मुंबई में हुए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद भी रखा गया है। शेख को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर कराची से लाहौर भेजा गया है। शेख और हाफिज की मौजूदगी के चलते जेल के आसपास अतिरिक्त सुरक्षा के लिए अर्धसैनिक बल रेंजर्स और पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं।

सिंध हाईकोर्ट ने 2020 में शेख को पर्ल हत्याकांड में मिली फांसी की सजा से बरी कर दिया था। लेकिन अमेरिकी दबाव और चहुंओर निंदा के चलते सुप्रीम कोर्ट ने जेल से शेख की रिहाई रुकवा दी थी। खुद को रिहा करने के लिए दायर शेख की अर्जी पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में उसे लाहौर जेल में स्थानांतरित करने का आदेश दिया है। शेख ने अपनी अर्जी में कहा था कि अगर उसे जल्द रिहा न किया जाए तो लाहौर की जेल में स्थानांतरित कर दिया जाए, क्योंकि लाहौर में उसका परिवार रहता है। उसके परिवार के लोगों को उससे मुलाकात में आसानी होगी।