अब दो गुना वाटर चार्ज देने को तैयार हो जाएं, हरियाणा में जनस्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने लिया फैसला

जनस्वास्थ्य विभाग ने पानी की बर्बादी रोकने के लिए कमरकस ली है। अब बिना मीटर वाले उपभोक्ताओं के वाटर चार्ज के रूप में दोगुना वसूल करने की तैयारी चल रही है। वाटर चार्ज 48 से बढ़ाकर 96 रुपये कर दिया गया है।

इसी प्रकार वेस्ट वाटर चार्ज 12 रुपये से बढ़ाकर 24 रुपये कर दिया है। 96 और 24 रुपये मिलाकर 120 रुपये उपभोक्ताओं को देने होंगे। पहले 60 रुपये की चार्ज की जगह अब 120 रुपये प्रति माह देने होंगे। इसी प्रकार औद्योगिक, व्यावसायिक व अन्य संस्थानों में हर महीने एक हजार रुपये के हिसाब से वाटर चार्ज वसूल की जाएगी। इससे व केवल बिना मीटर उपभोक्ता पानी के मीटर लगवाएंगे, बल्कि विभाग को राजस्व का फायदा होगा।

जनस्वास्थ्य विभाग के सभी कार्यालयों में पत्र जारी कर दिया गया है। अब बिना मीटर वाले घरेलू उपभोक्ता मीटर लगाने में अधिक रूझान दिखाएंगे। नए रेट के मुताबिक उपभोक्ताओं को चार्ज देने होंगे। बिना मीटर वाले घरेलू उपभोक्ता एक साल 120 रुपए के हिसाब से पानी के चार्ज देने होंगे। जो उपभोक्ता पैनल रेट साल से अधिक होगा, उसका पानी का कनेक्शन काट दिया जाएगा।

इससे न केवल लोगों की बिल भरने में की जा रही लापरवाही भी खत्म होगी। जनस्वास्थ्य विभाग को वाटर चार्ज वसूलने में भी परेशान नहीं होगी। यदि उपभोक्ता ने अपना पानी का मीटर निर्धारित अवधि में नहीं लगवाया तो उपभोक्ता से पैनल रेट से पानी का बिल लिया जाएगा, जो प्रदेश सरकार समय-समय पर निर्धारित करती। यहीं नया पानी का कनेक्शन पानी के मीटर सहित मंजूर किया जाएगा।

उधर, जनस्वास्थ्य विभाग के क्लर्क अमरजीत सिंह का कहना है कि नए चार्ज के हिसाब से उपभोक्ताओं से वाटर चार्ज लिए जाएंगे। जिन उपभोक्ताओं की पानी की खपत कम है उनसे न्यूनतम चार्ज ही देने होंगे। पब्लिक हेल्थ विभाग के एक्सइएन अनिल चौहान ने लोगों से अपील की वह पानी की बर्बादी को रोके और बिना मीटर वाले कनेक्शन धारक मीटर लगवाने के आवेदन करें।