Reliance, BP ने KG-D6 ब्लॉक के दूसरे क्लस्टर से शुरू किया प्रोडक्शन; जानिए कितने गैस का होगा उत्पादन

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) और ब्रिटेन की उसकी साझीदार कंपनी BP Plc ने डीप वाटर गैस फील्ड KG-D6 ब्लॉक के दूसरे क्लस्टर में गैस का उत्पादन शुरू होने की सोमवार को घोषणा की। Reliance-BP ने एक बयान जारी कर सेटेलाइट क्लस्टर से प्रोडक्शन शुरू करने की घोषणा की है। पिछले साल दिसंबर में इन दोनों कंपनियों ने आर क्लस्टर से उत्पादन शुरू करने का ऐलान किया था। कंपनियों की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद सेटेलाइट क्लस्टर में निर्धारित समय से दो माह पूर्व उत्पादन शुरू हो गया है। Reliance-BP, KG-D6 में तीन डीप-वाटर गैस डेवलमेंट्स का विकास कर रहे हैं। ये तीन फैसिलिटीज हैं- आर क्लस्टर, सेटेलाइट क्लस्टर और एमजे।

इस बात की संभावना जतायी रही है कि इन तीनों क्लस्टरों से 2023 तक तीन करोड़ स्टैंडर्ड क्यूबिक मीटर प्रतिदिन के प्राकृतिक गैस का उत्पादन शुरू हो जाएगा। इससे देश की गैस की 15 फीसद तक की मांग की पूर्ति होगी।

इन डेवलपमेंट्स के तहत KG-D6 ब्लॉक में पहले से मौजूद सभी हब इन्फ्रास्ट्रक्चर को इस्तेमाल में लाने में मदद मिलेगी।

रिलायंस 66.67 फीसद की हिस्सेदारी और BP 33.33 फीसद की हिस्सेदारी के साथ ब्लॉक में गैस के उत्पादन कर रहे हैं।

दिसंबर में आर क्लस्टर से उत्पादन शुरू होने के बाद सेटेलाइट क्लस्टर दूसरा ऐसा क्लस्टर है, जहां से उत्पादन शुरू हो गया है। इस क्लस्टर में उत्पादन की शुरुआत 2021 के मध्य में होनी थी।

यह फील्ड काकीनाडा के पहले से मौजूद टर्मिनल से 60 किलोमीटर दूर है।

KG D6 के तीसरे डेवलपमेंट MJ में 2022 की दूसरी छमाही में प्रोडक्शन शुरू होने की उम्मीद है।

यह फील्ड काकीनाडा के पहले से मौजूद टर्मिनल से 60 किलोमीटर दूर है।

KG D6 के तीसरे डेवलपमेंट MJ में 2022 की दूसरी छमाही में प्रोडक्शन शुरू होने की उम्मीद है।