जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी ने कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए सख्त दिशा-निर्देश किए जारी, करें चेक

दिल्ली में कोरोना का कहर कम नहीं हो रहा है। हर दिन तेजी से मामले बढ़ रहे हैं। इन परिस्थितियों को देखते हुए एक बार फिर जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी ( Jawaharlal Nehru University, JNU) ने कोविड-19 संक्रमण के संबंध में अहम दिशा-निर्देश जारी किए हैं। यूनिवर्सिटी ने कहा है कि छात्र-छात्राएं अपने मूल स्थान पर वापस लौट जाएं। इसके अलावा परिपत्र में यह भी कहा गया है कि अगर कोई व्यक्ति इन नियमों का उल्लंघन करता हुआ पाया जाता है, तो उनके खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के प्रावधानों और अन्य कानूनी प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाएगी।

इसके अलावा अगर किसी हॉस्टल स्टाफ, वार्डन और उनके परिवार के सदस्यों या फिर छात्रों को होम आइसोलेशन के दौरान भी COVID पॉजिटिव पाया जाता है तो उन्हें हॉस्टल प्रशासन को इसकी सूचना देनी होगी। यूनिवर्सिटी ने जारी दिशा-निर्देशों में कहा है कि COVID-19 पॉजिटिव रोगियों और उनके समान लक्षण वाले और उनके परीक्षा परिणामों की प्रतीक्षा करने वालों की आवाजाही पूरी तरह से रोक है। इसके अलावा सर्कुलर में कहा गया है कि सामूहिक सभा, हॉस्टल परिसर में मण्डली और स्टेडियम में घूमना, दौड़ना और टहलना पूरी तरह प्रतिबंधित है। इसके अलावा स्टूडेंट्स को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि एक हॉस्टल से दूसरे हॉस्टल में जाने की मनाही है। इसके अलावा छात्रावास के मेस में अत्यधिक देखभाल की जानी चाहिए। इसके अलावा स्टूडेंट्स ध्यान दें कि छात्रावास परिसर में फेस मास्क पहनना अनिवार्य होगा। इसके अलावा छात्रावास प्रशासन को यह सुनिश्चित करना होगा कि अगर कोई मास्क नहीं पहने हुए पाया जाता है तो इस संबंध में अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए।