टीकरी बार्डर दुष्‍कर्म केस: युवती के पिता ने पुलिस काे सुबूत सौंपे, विज बोले- हर आरोपित की होगी गिरफ्तारी

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे धरना स्थल पर पश्चिमी बंगाल की युवती के साथ दुष्कर्म और मृत्यु के मामले की तह में जाने को हरियाणा पुलिस सक्रिय हो गई है। पश्चिमी बंगाल के हुगली जिले की रहने वाली इस लड़की के पिता ने अपनी बेटी के साथ हुए तमाम अत्याचारों के सबूत पुलिस को सौंप दिए हैं। हरियाणा सरकार भी इस युवती को न्याय दिलाने को लेकर संजीदा है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पुलिस अधिकारियों से जहां पूरे मामले की रिपोर्ट हासिल की, वहीं राज्‍य के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि आंदोलन की आड़ में ऐसे कृत्यों को स्वीकार नहीं किया जा सकता। मामले में ए‍क-एक आरोपित की गिरफ्तारी होगी। दूसरी ओर, हरियाणा महिला आयोग ने झज्‍जर के एसपी से इस मामले में रिपोर्ट मांगी है।

पश्चिम बंगाल की युवती के साथ दुष्कर्म और मौत का मामले में आरोपितों पर शिकंजा कसा

गृहमंत्री अनिल विज ने पुलिस महानिदेशक मनोज यादव और झज्जर के एसपी को निर्देश दिए कि मामले की तह में जाकर वास्तविक दोषियों को किसी सूरत में बख्शा नहीं जाए। इससे पहले लड़की के पिता ने पुलिस को कई ऐसे सबूत सौंपे हैं, जिनके आधार पर पुलिस को वास्तविक अपराधियों तक पहुंचने में मदद मिल सकती है।

गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि टीकरी बार्डर पर पश्चिमी बंगाल की जिस युवती के साथ दुष्कर्म की बात सामने आई है, उस पर पूरी कार्रवाई की जा रही है। एक-एक आदमी को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गए हैं। आंदोलन की आड़ में ऐसे जघन्य कृत्यों को हम किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं कर सकते।

दूसरी तरफ]  मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फिलहाल इस मामले में किसी तरह की टिप्पणी से इन्कार कर दिया। उन्‍होंने कहा कि पुलिस तहकीकात में जुटी है। हरियाणा भाजपा की उपाध्यक्ष कविता जैन ने इस कृत्य की कड़ी आलोचना की है। उन्‍होंने कहा कि पुलिस को असामाजिक तत्वों की गतिविधियों की बारीकी से जांच कर असलियत सामने लानी चाहिए।

दूसरी ओर, हरियाणा महिला आयोग की कार्यकारी चेयरमैन प्रीति भारद्वाज ने पश्चिमी बंगाल की युवती के साथ दुष्कर्म और बाद में कोविड की वजह से उसकी मौत के मामले को गंभीरता से लेते हुए कहा कि आयोग इस मामले में लड़की के परिवार की यथासंभव मदद करेगा।

हरियाणा पुलिस अभी तक जिस नतीजे पर पहुंची है, उसके मुताबिक पश्चिमी बंगाल के हुगली जिले की जिस लड़की के साथ दुष्कर्म हुआ, आंदोलन का संचालन करने वाले तथाकथित कई नेताओं को उसकी पहले से जानकारी थी। जानकारी के बावजूद इस घिनौने कृत्य को न केवल कई दिनों तक छिपाया जाता रहा, बल्कि इस मामले को रफा-दफा करने की आखिर तक कोशिश होती रही। ऐसा लड़की के पिता द्वारा दर्ज कराई गई एफआइआर के बाद सामने आए किसान संगठनों के नेताओं के बयान से भी आभास हो रहा है, क्योंकि एफआइआर होने से पहले तक यह किसान संगठन लगातार चुप्पी साधे रहे।

पश्चिमी बंगाल की इस युवती के पिता ट्रेड यूनियन के नेता हैं। उनकी बेटी भी पश्चिम बंगाल के हुगली जिले से हरियाणा-दिल्ली बार्डर पर झज्जर जिले के टीकरी बार्डर में चल रहे धरने में शामिल होने आई थी। दुष्कर्म और कोरोना संक्रमण से हुई युवती की मौत की घटना के बाद पूरे आंदोलन पर सवाल खड़े हो गए हैं। इससे पहले भी जब आंदोलन के दौरान पाकिस्तान समर्थक नारे लगने की बात सामने आई थी, तब कोई आंदोलनकारी इस बात को स्वीकार करने को तैयार नहीं हुआ था।

हरियाणा महिला आयोग ने झज्जर एसपी से पांच दिन में मांगी रिपोर्ट

दूसरी ओर, मामले में हरियाणा राज्य महिला आयोग ने कड़ा संज्ञान लिया है। अखबारों में प्रकाशित खबरों के आधार पर महिला आयोग की कार्यकारी चेयरपर्सन प्रीति भारद्वाज ने झज्जर के एसपी को नोटिस भेजकर पांच दिन के भीतर पूरी रिपोर्ट तलब की है। कार्यकारी चेयरपर्सन ने झज्जर के एसपी को भेजे नोटिस में सलाह दी है कि वह स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआइटी) का गठन कर पूरे मामले की जांच कराएं तथा उसकी एक रिपोर्ट उन्हें भेजें।

प्रीति भारद्वाज ने एसपी को भेजे नोटिस में यह भी पूछा है कि अभी तक लड़की के पिता द्वारा दी गई शिकायत पर क्या कार्रवाई की गई, इस बारे में भी आयोग को पूरी डिटेल रिपोर्ट उपलब्ध कराई जाए। बता दें कि टीकरी बार्डर पर बंगाल के हुगली जिले की एक लड़की के साथ कुछ लोगों ने दुष्कर्म किया। बाद में इस घटनाक्रम को कई दिनों तक छिपाया जाता रहा। इस दौरान लड़की कोरोना से संक्रमित हो गई, जहां बाद में उसकी मृत्यु हो गई।

युवती से दुष्कर्म करने वालों को मिले कड़ी से कड़ी सजा : दिग्विजय चौटाला

हरियाणा की भाजपा सरकार में साझीदार जननायक जनता पार्टी ने टीकरी बार्डर पर बंगाल की युवती के साथ हुए दुष्कर्म और मृत्यु के मामले में कड़ा रुख अख्तियार किया है। जजपा महासचिव एवं इनसो अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने सोमवार को कहा कि युवती के साथ दुष्कर्म के आरोपितों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। आरोपित भले ही किसान हैं या नहीं हैं अथवा किसी संगठन से जुड़े हैं या नहीं हैं, यह अहम नहीं है। अहम है उन्हें अपने कृत्यों की सजा मिले।

चंडीगढ़ में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए दिग्विजय ¨सह चौटाला ने कहा कि लड़की के पिता ने अपनी शिकायत पुलिस को दे दी है। पुलिस तमाम तथ्यों पर जांच कर रही है। हरियाणा प्रदेश में ऐसी गुंडागर्दी नहीं चलेगी। दूध का दूध और पानी का पानी अलग होना चाहिए। जिसने भी युवती के साथ दुष्कर्म उसे उसकी सजा मिलनी चाहिए। जननायक जनता पार्टी ऐसे अपराधियों के सख्त खिलाफ है।