Diwali 2020: दिल्ली में इस बार स्वदेशी झालरों से जगमग होगी दिवाली, बाजारों में बिक्री भी शुरू

देश का महापर्व कहा जाने वाला त्योहार दिवाली में केवल 11 दिन ही शेष रह गए है। कोरोना संकट के चलते दिवाली का त्योहार बेहद विषम परिस्थितियों में मनाया जाएगा। यमुनापार के शाहदरा, लक्ष्मी नगर, कृष्णा नगर, गांधी नगर, मयूर विहार फेज-1, आचार्य निकेतन सहित सभी प्रमुख बाजारों में दिवाली की बिक्री भी शुरू हो गई है। बाजार में ग्राहकों की रौनक देखकर व्यापारी वर्ग खासा उत्साहित है। व्यापारियों को उम्मीद है कि कोरोना महामारी के कारण बर्बाद हुए व्यापार को दिवाली पर कुछ राहत मिलेगी। इस बार बाजारों में स्वदेशी सामान की बहुत मांग है। दिवाली का पर्व इस बार स्वदेशी झालरों से जगमगाएगा।

यमुनापार के बाजारों में हर बार दीपावली पर चीनी माल की भरमार रहती है, लेकिन इस बार इनकी जगह स्वदेशी सामान नजर आ रहा है। विद्युत सज्जा का सामान, सजावटी सामान, दीये, उपहार, खिलौने, गणेश-लक्ष्मी की मूर्तियां इत्यादि बहुत सा सामान स्वदेशी का बेचा जा रहा है। साथ ही लोग चीनी सामान का भी लगातार बहिष्कार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी वोकल फॉर लोकल का स्पष्ट नारा देश को दे चुके हैं। तमाम परिस्थितियों के बीच त्योहारी सीजन के लिए तैयारी शुरू हो गई है और इस बार संभावना है कि बाजार स्वदेशी रंग में नजर आएंगे।

वहीं कृष्णा नगर बाजार में इलेक्ट्रॉनिक्स व्यापारी मुकेश शर्मा ने बताया कि इस बार पिछले दस साल से लोग दिवाली पर अपने घरों को सजाने के लिए चीनी लाइट का उपयोग अधिक करते थे। लेकिन इस बार सोशल मीडिया और जमीनी स्तर पर चीन के विरोध में जो माहौल बना है। जिससे चीनी लाइट के व्यापार पर काफी प्रभाव पड़ा है। लोग स्वदेशी लाइटों को खरीद रहे हैं।