भारतीय महिला टीम के कोच को लेकर भड़के सौरव गांगुली, फैसले पर जताई नाराजगी

भारतीय महिला टीम के मुख्य कोच डब्ल्यूवी रमन को हटाने को लेकर चल रहा विवाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) में थमने का नाम नहीं ले रहा है। जानकारी अब सामने आई है कि बीसीसीआइ अध्यक्ष जैसे बड़े अधिकारी ने भारतीय महिला टीम के कोच के रूप में रमन को नहीं बनाए रखने पर निराशा और नाराजगी व्यक्त करते हुए आंतरिक रूप से इस मुद्दे को उठाया है।

क्रिकबज की रिपोर्ट के मुताबिक, सौरव गांगुली ने औपचारिक रूप से भारत के पूर्व बल्लेबाज रमन को बर्खास्त करने पर (पत्रों के माध्यम से) आपत्ति व्यक्त की है, क्योंकि रमेश पवार को मुख्य कोच चुना गया है, जिन्हें क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) ने इस पद के लिए नहीं चुना था। उन्होंने इस बात पर आश्चर्य व्यक्त किया कि कैसे एक कोच, जिसने टीम को एक वैश्विक टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचाया था, उसको बरकरार नहीं रखा गया है।

यह कहा जाना चाहिए कि टीम के कुछ वरिष्ठ सदस्यों ने कथित तौर पर रमन के बारे में शिकायत की है, लेकिन बीसीसीआइ अध्यक्ष, जो खुद एक समय सीएसी के सदस्य थे, उन्होंने महसूस किया है कि भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज के साथ बने रहना चाहिए था। भारत ने 2020 में ऑस्ट्रेलिया में हुए टी20 विश्व कप के फाइनल के लिए क्वालीफाई किया था, लेकिन टीम मार्च में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज बुरी तरह हार गई थी।

भारतीय महिला टीम को अब इंग्लैंड दौरे पर जाना है। इससे पहले टीम को रमेश पवार के रूप में नया कोच मिला है। इंग्लैंड में भारतीय महिला टीम को टेस्ट के साथ-साथ टी20 और वनडे सीरीज भी खेलनी है। इसको लेकर टीम के पूर्व मुख्य कोच WV रमन ने कहा है कि महिला टीम को टेस्ट क्रिकेट पर नहीं, बल्कि सीमित ओवरों की क्रिकेट पर ध्यान देना चाहिए। सामने आ रहा है कि भारतीय महिला टीम इंग्लैंड में डे-नाइट टेस्ट खेल सकती है।