शीतकालीन सत्र 2021: संसद में आज फिर लखीमपुर हिंसा पर हंगामे के आसार, कांग्रेस ने दिया स्थगन प्रस्ताव

लखीमपुर कांड पर संसद के अंदर और बाहर सियासी संग्राम के फिलहाल थमने के आसार नहीं दिख रहे हैं। राज्यसभा के 12 सदस्यों के निलंबन के मुद्दे के बाद अब विपक्ष लखीमपुर खीरी कांड में गिरफ्तार आशीष मिश्र के पिता और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के इस्तीफे की मांग पर अड़ा हुआ है। विपक्षी दल अपनी मांग को लेकर ने दोनों सदनों में हंगामा कर रहे हैं। इसको लेकर विपक्ष आज संसद भवन से विजय चौक तक विरोध मार्च निकालने की तैयारी में है।

केंद्रीय मंत्री एआर मेघवाल ने कहा है कि निलंबित सांसदों ने संसद की गरिमा को कम किया है। उन्हें कुछ पछतावा होना चाहिए। अगर वे माफी मांगते हैं, तो सरकार निलंबन को रद्द करने के बारे में सोचेगी। संसदीय परंपरा रही है अगर कोई सांसद संसद की गरिमा को कम करने के लिए कुछ करता है, तो उन्होंने माफी मांगी।

लखीमपुर खीरी कांड को लेकर कांग्रेस सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने राज्यसभा में बिजनेस नोटिस दिया, साथ ही गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के तत्काल इस्तीफे की मांग की है। लखीमपुर खीरी कांड पर ही कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर ने लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया है। वहीं, सीपीआइ (एम) सांसद डा. वी शिवदासन ने AFSPA को वापस लेने पर चर्चा करने के लिए राज्यसभा में नियम 267 के तहत निलंबन नोटिस दिया है।

मतदाता सूची में दोहराव और फर्जी मतदान को रोकने के लिए चुनाव सुधार (संशोधन) विधेयक 2021 को आज राज्यसभा में पेश किया जाएगा। इसके मद्देनजर भाजपा और कांग्रेस ने अपने सांसदों के लिए व्हिप जारी किया है। बता दें कि लोकसभा इस विधेयक को सोमवार को पारित कर चुकी है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मंगलवार को राज्यसभा में सरकार के रुख का समर्थन करने और विधेयकों के समर्थन में मतदान करने के लिए अपने सदस्यों की अनिवार्य उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए सोमवार को तीन पंक्तियों का व्हिप जारी किया। सोमवार को ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी मंत्रिमंडल के वरिष्ठ मंत्रियों के साथ संसद में एक बैठक की और विभिन्न मसलों के साथ-साथ बाकी शीत सत्र के लिए आगे की रणनीति पर विचार-विमर्श किया।

लखीमपुर खीरी कांड में गिरफ्तार आशीष मिश्र उर्फ मोनू के पिता और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र उर्फ टेनी के त्यागपत्र की मांग को लेकर संसद के दोनों सदनों के विपक्षी नेता आज संसद परिसर में गांधी प्रतिमा से विजय चौक तक मार्च निकालेंगे।

राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू ने सदन के 12 सदस्यों के निलंबन के मुद्दे पर जारी गतिरोध का समाधान निकालने की दिशा में कोई प्रगति नहीं होने पर नाखुशी व्यक्त की। इस वजह से संसद के उच्च सदन की कार्यवाही शीतकालीन सत्र के पहले दिन से ही प्रभावित हो रही है। बता दें कि संसद के शीतकालीन सत्र का 23 दिसंबर को समापन हो रहा है।