LIVE केरल निकाय चुनाव के नतीजे : LDF ने बनाई बढ़त, तिरुवनंतपुरम में 13 वार्डों में NDA आगे

कोरोना वायरस प्रोटोकॉल (COVID-19 Protocols) के साथ, केरल स्थानीय निकाय चुनावों की मतगणना जारी है। राज्य चुनाव आयोग के अनुसार, मतगणना 244 केंद्रों पर हो रही है। तीन चरणों में 1199 निकाय के चुनाव कराए गए। इस दौरान 941 ग्राम पंचायत, 152 बलॉक पंचायत, 86 नगर पालिका, 14 जिला पंचायतों और छह नगर निगमों के चुनाव हुए थे। शुरुआती रुझानों में एलडीएफ और यूडीएफ में टक्कर दिखाई दे रही है। फिलहाल एलडीएफ ने बढ़त बनाई हुई है। इस बीच कोच्चि कोर्पोरेशन नॉर्थ आईलैंड वॉर्ड में कांग्रेस के मेयर उम्मीदवार एन वेणुगोपाल को भाजपा उम्मीदवार से 1 वोट हार गए। तिरुवनंतपुरम में एनडीए 13 वार्डों में आगे चल रही है।

– तिरुवनंतपुरम में जश्न मनाते भाजपा कार्यकर्ता, स्थानीय निकाय चुनाव परिणामों के शुरुआती रुझानों के अनुसार, एनडीए 13 वार्डों में आगे है। मतगणना जारी है।

– तिरुवनंतपुरम निगम के 7 वार्डों में एलडीएफ, तीन में एनडीए और एक में यूडीएफ की जीत। रुझानों के अनुसार, 13 वार्डों में एनडीए, एलडीएफ- 21, यूडीएफ -4 में आगे। एलडीएफ की मेयर उम्मीदवार एस. पुष्पलता को एनडीए उम्मीदवार ने 145 वोटों से हरा दिया।

– समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार शुरुआती रूझानों के अनुसार 941 में से 403 एलडीएफ, यूडीएफ 341, एनडीए 29 और अन्य 56 ग्राम पंचायतों में आगे है। 152 में से एलडीएफ 93, यूडीएफ 56 और एनडीए दो बलॉक पंचायतों में आगे है। 14 में से एलडीएफ 11 और यूडीएफ 3 जिला पंचायतों में आगे है। 86 में से एलडीएफ 38, यूडीएफ 39, एनडीए तीन और अन्य छह नगर पालिकाओं में आगे है। छह में से चार में एलडीएफ और यूडीएफ दो नगर निगमों में आगे।

– स्थानीय निकाय चुनाव परिणामों के शुरुआती रुझानों के अनुसार कोच्चि निगम में एनडीए 5 वार्डों, एलडीएफ – 21, यूडीएफ -27 और अन्य- 5 वार्डों में आगे।

– कोच्चि कॉर्पोरेशन नॉर्थ आइलैंड वार्ड में कांग्रेस के महापौर उम्मीदवार एन वेणुगोपाल एक वोट से भाजपा उम्मीदवार से हार गए हैं। हार के बाद उन्होंने कहा, ‘यह एक सुनिश्चित सीट थी। मैं नहीं कह सकता कि क्या हुआ। पार्टी में कोई समस्या नहीं थी। वोटिंग मशीन में समस्या थी। यही बीजेपी की जीत का कारण हो सकता है। मैंने अभी तक वोटिंग मशीन के मुद्दे पर अदालत जाने का फैसला नहीं किया है।

– समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार शुरुआती रुझानों के अनुसार तिरुवनंतपुरम निगम में एनडीए 13 वार्डों, एलडीएफ 12 और यूडीएफ 4 वार्डों में आगे।

नतीजे दोपहर 1 बजे तक आने की उम्मीद

नतीजे दोपहर 1 बजे तक आने की उम्मीद है। केरल में स्थानीय निकाय चुनाव तीन चरणों में हुए थे। स्थानीय निकाय चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण में 78.64 फीसद मतदान हुआ था। दूसरे चरण में 76.38 प्रतिशत मतदान हुआ और पहले चरण में 72.67 प्रतिशत मतदान हुआ। परिणामों की घोषणा से पहले कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए मलप्पुरम और कोझिकोड और कासरगोड जिलों के कुछ क्षेत्रों में धारा 144 लागू है।

मलप्पुरम  22 दिसंबर तक धारा 144 लागू

मलप्पुरम जिला कलेक्टर के. गोपालकृष्णन ने 16 से 22 दिसंबर तक सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक मलप्पुरम में धारा 144 लागू कर दी है। धार्मिक स्थलों को छोड़कर लोगों का जमावड़ा और माइक का इस्तेमाल रात 8 बजे के बाद नहीं होगा। चुनाव में जीत के बाद समारोह 100 लोगों की भीड़ के साथ आयोजित किया जा सकता है। इसमें 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे और 65 से ऊपर के लोग शामिल नहीं हो सकते।

कोझीकोड में 17 दिसंबर तक धारा 144 लागू

कोझीकोड जिला कलेक्टर ने ग्रामीण इलाकों वातकार, नदापुरम, वलयम, कुट्टीडीह, और पेरंबरा पुलिस स्टेशन की सीमा के भीतर 5 से अधिक व्यक्तियों के किसी भी जुलूस, सार्वजनिक सभा को मंगलवार शाम 6 बजे से दो दिनों की अवधि के लिए प्रतिबंधित कर दिया है। 15 दिसंबर शाम 6 बजे से 17 दिसंबर तक धारा 144 लागू है। यह भी आदेश दिया गया है कि  कोझिकोड ग्रामीण सीमा में मतगणना केंद्रों के 500 मीटर के दायरे में आने वाले क्षेत्रों में  5 से अधिक व्यक्तियों के जमवाड़े (उम्मीदवारों और उनके एजेंटों को एक रिटर्निंग अधिकारी द्वारा अधिकृत) पर रोक है। इसके अलावा, जीत के बाद जुलूस 20 लोगों के साथ निकाली जा सकती है।

चुनाव के दौरान कार्यकर्ताओं के बीच झड़प

कासरगोड के जिला कलेक्टर डॉ. डी. साजिथ बाबू ने जिले के 10 पुलिस स्टेशनों की सीमा के भीतर विभिन्न क्षेत्रों में 15 दिसंबर को दोपहर 12 बजे से 17 दिसंबर को दोपहर 12 बजे तक सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी है। स्थानीय निकाय चुनाव परिणामों की घोषणा के मद्देनजर कानून-व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए इसकी घोषणा की गई है। जिला कलेक्टरों ने संबंधित जिला पुलिस प्रमुखों की रिपोर्टों के आधार पर सीआरपीसी की धारा 144 लगाई है। चुनाव के दौरान इन जिलों के कई स्थानों पर पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच झड़पों की सूचना मिली थी।