जानें- भारत में अमेरिका के नए घोषित राजदूत एरिक गार्सेटी को लेकर राष्‍ट्रपति बाइडन ने कौन सी बड़ी बात कही

अमेरिका के राष्‍ट्रपति जो बाइडन ने भारत में अमेरिका के नए राजदूत के तौर पर घोषित किए गए एरिक गार्सेटी पर पूरा विश्‍वास जताया है। उन्‍होंने कहा कि वो भारत में उनके एक उत्‍कृष्‍ठ प्रतिनिधि साबित होगे, ऐसा उन्‍हें विश्‍वास है। आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही अमेरिकी कांग्रेस की एक अहम समिति ने एरिक गार्सेटी के नाम को भारत में अमेरिका के नए राजदूत के तौर पर अंतिम मंजूरी दी है। उनके नाम की चर्चा पिछले वर्ष जुलाई में ही शुरू हो गई थी, लेकिन अब ये नाम लगभग तय हो चुका है। उनके अलावा इस समिति ने अमेरिका के अलग-अलग देशों के लिए नए राजदूतों के तौर पर 11 नामों को भी मंजूरी दी थी। इस समिति में रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक पार्टी के बराबर 11-11 सदस्‍य हैं। गार्सेटी लास एंजिलिस के मेयर हैं।

यहां भी होंगे नए यूएस राजदूत

बता दें कि अमेरिका जिन देशों में अपने नए प्रतिनिधि तैनात करने वाला है उनमें जर्मनी में राजदूत के तौर पर एमी गुटमैन, पाकिस्तान में डोनाल्ड आर्मिन ब्लोम तथा होली सी में जोए डोनेली के नाम शामिल हैं। आपको ये भी बता दें कि कई देशों में अमेरिका अपने नए राजदूतों के नाम सुनिश्चित नहीं कर सका है। इस पर पिछले‍ दिनों सीनेट की विदेश संबंधों की समिति के अध्यक्ष सीनेटर बाब मेनेंदेज ने नाराजगी जताई थी। उन्‍होंने कहा था कि लंबे समय तक इन पदों को खाली रखना अमेरिका के हित में नहीं है।

एक नजर गार्सेटी के करियर पर 

गार्सेटी वर्ष 2013 में पहली बार लास एंजिलिस के 42वें मेयर चुने गए थे। इसके बाद वर्ष 2017 में उन्‍हें इस पद पर दोबारा चुना गया। इसके अलावा वे करीब 12 वर्षों तक सिटी काउंसिल के सदस्य भी रहे हैं। छह बार वो काउंसिल के अध्यक्ष के तौर पर भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं। वे लास एंजेसिल के एक यहूदी मेयर और मैक्सिकन अमेरिकी मेयर भी हैं। उन्‍हें अंतरराष्ट्रीय मामलों के लिए लास एंजिलिस का पहला डिप्टी मेयर नियुक्त किया गया था।