Army ToD Recruitment 2022: ‘टूर ऑफ ड्यूटी’ से सेना में 40-50 हजार सोल्जर की भर्ती, नौसना एवं वायु सेना में भी नौकरी

Army ToD Recruitment 2022: भारतीय सेना में जल्द ही 40-50 हजार जवानों की भर्ती की जाएगी। यह भर्ती भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय द्वारा लाई जाने वाली ‘टूर ऑफ ड्यूटी’ यानि ToD स्कीम के अंतर्गत की जाएगी। ‘टूर ऑफ ड्यूटी’ स्कीम में 4 वर्षों के लिए भर्ती की जाएगी और इसके बाद 75 फीसदी प्रशिक्षुओं को निकाल दिया जाएगा, जबकि शेष 25 फीसदी को सेना में आगे स्थायी कर दिया जाएगा। आर्मी टीओडी के अंतर्गत उम्मीदवारों 18 वर्ष से 21 वर्ष तक की आयु सीमा के अंडर-ग्रेजुएट की नियुक्ति अल्पकालिक नियुक्ति की जाएगी, जो कि सेना में पहले से ही लागू अल्पकालिक सेवा कमीशन (SSC) की तरह ही है। सेना में निर्धारित प्रक्रिया से चुने गये उम्मीदवारों को SSC के अंतर्गत 10-14 साल की अप्लकालिक नौकरी दी जाती है।

भारतीय सेना में ‘टूर ऑफ ड्यूटी’ के अंतर्गत चुने गये उम्मीदवारों को सोल्जर रैंक पर देश भर के विभिन्न यूनिट/बटालियन में तैनाती दी जाएगी। इनका प्रशिक्षुओं का वेतन नियमित भर्ती के मुकाबले कम हो सकता है और इन्हें पेंशन नहीं दी जाएगी।

बता दें कि भारतीय थल सेना से हर वर्ष करीब 60 हजार लोग रिटायर होते हैं और पिछले दो वर्षों के दौरान कोरोना महामारी के चलते सेना भर्ती प्रक्रिया का आयोजन बड़े पैमाने पर नहीं किया जा सका है। वर्ष 2019-20 के दौरान भारतीय सेना में 80,572 जवानों की भर्ती की गई थी। इसके बाद से कोई नई भर्ती अभी तक नहीं हुई है। इसके चलते 46 रेजीमेंटल ट्रेनिंग सेंटर में फ्रेश बैच शुरू ही नहीं हो सके हैं।

नौसना एवं वायु सेना में भी नौकरी

‘टूर ऑफ ड्यूटी’ स्कीम के अंतर्गत न सिर्फ सेना में बल्कि भारतीय वायु सेना और भारतीय नौसेना में भी अल्पकालिक भर्ती की जाएगी। नौसेना में सेलर (नौसैनिक) और वायु सेना में एयरमैन (वायु सैनिक) रैंक पर निर्धारित प्रक्रिया से चयनित उम्मीदवारों की नियुक्ति चार वर्ष के लिए की जाएगी।