कार्बन उत्सर्जन के लिए चीन और रूस के साथ भारत पर भी ट्रंप ने लगाया आरोप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को प्रदूषित हवा के मामले में चीन और रूस के साथ भारत को भी एक कतार में खड़ा कर दिया। 3 नवंबर के राष्ट्रपति चुनाव के लिए गुरुवार रात अंतिम डिबेट के दौरान ट्रंप ने कार्बन उत्सर्जन को लेकर इन तीन देशों को दोषी बताया है। उन्होंने इन तीनों देशों में वायु प्रदूषण का जिक्र करते हुए कहा, ‘चीन को देखिए। कितना प्रदूषण है यहां। रूस को देखें। भारत को देखें, कितना प्रदूषण है यहां। यहां की हवा काफी प्रदूषित है।’   ट्रंप ने यह बात अपने प्रतिद्वंद्वी डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन से फाइनल डिबेट के दौरान कही। डिबेट की मॉडरेटर एनबीसी की क्रिस्टन वेल्कर ( NBC’s Kristen Welker) थीं।

उन्होंने कहा, ‘हमारा ट्रिलियन वृक्षारोपण का कार्यक्रम था। हमारे अनेक कार्यक्रम हैं। मैं पर्यावरण से प्रेम करता हूं और क्रिस्टल की तरह पारदर्शी हवा और पानी देखना चाहता हूं। हमारे देश में कार्बन उत्सर्जन सबसे कम है जो एक बड़ा मानक है।’

दुनिया में कार्बन डाइ ऑक्साइड उत्सर्जन करने वाले देशों में भारत (India) चौथे नंबर पर है। वैश्विक कार्बन उत्सर्जन की बात करें तो 2017 में करीब 7 फीसद कार्बन डाइ ऑक्साइड का उत्सर्जन केवल भारत से हुआ था। यह डाटा 2018 के दिसंबर में प्रकाशित ग्लोबल कार्बन प्रोजेक्ट में दिया गया था।